ए.पी.जे. अब्दुल कलाम पर निबंध – APJ Abdul Kalam Essay In Hindi

0

दोस्तों अगर आप ए.पी.जे. अब्दुल कलाम पर निबंध लिखना चाहते हो तो आज इस पोस्ट में हम ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के बारे 10 lines on APJ Abdul Kalam, dr apj abdul kalam nibandh in hindi, ए.पी.जे. अब्दुल कलाम पर निबंध – APJ Abdul Kalam Essay In Hindi share करिंगे।

Short & Long Essay On APJ Abdul Kalam In Hindi! 200सब्द 300 सब्द 500 सब्द 600सब्द! हेलो नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सभी लोग आशा करता हूं कि आप सभी लोग अच्छे ही होंगे, दोस्तों क्या आप सभी क्लास 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 के student है यदि हां तब आप सभी लोगों को अक्सर ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के ऊपर निबंध लिखने दिया जाता है परंतु आप सभी स्टूडेंट्स अच्छे से नहीं लिख पाते पर आज के इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप सभी बहुत ही अच्छे तरीके से ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के ऊपर निबंध लिख सकेंगे।

सिर्फ हमारे भारत में ही नहीं बल्कि देश के और भी कई अन्य जगह पर भी ए.पी.जे. अब्दुल कलाम को जाना जाता है। भारत में APJ Abdul Kalam (ए.पी.जे. अब्दुल कलाम) को “The Missile Man Of India”(मिसाइल मैन ऑफ इंडिया) कहा जाता है। APJ Abdul Kalam (ए.पी.जे. अब्दुल कलाम) सिर्फ वैज्ञानिक ही नहीं थे बल्कि वह हमारे भारत के पूर्व राष्ट्रपति भी थे जो कि एक बहुत ही सम्मान का बात है। APJ Abdul Kalam का जन्म 1931 के अक्टूबर 15 में हुआ था तमिलनाडु के रामेश्वरम गांव में।


ए.पी.जे. अब्दुल कलाम पर निबंध – APJ Abdul Kalam Essay In Hindi

निबंध 1 (250 Words)

हमारे भारत में महान वैज्ञानिक ए.पी.जे. अब्दुल कलाम  को “The Missile Man Of India” भी कहा जाता है। आज सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि और भी कई देश पर एपीजे अब्दुल कलाम को सभी लोग जानते हैं। APJ Abdul Kalam सिर्फ एक अच्छी वैज्ञानिक ही नहीं थी बल्कि एक बहुत ही अच्छे भारत के 11th राष्ट्रपति भी थे। APJ Abdul Kalam का नाम अवुल पाकिर जैनुल्लाब्दीन अब्दुल कलाम था।

अगर हम डॉ अब्दुल कलाम के जन्म के बारे में बताएं तो 1931 के 15 अक्टूबर में तमिल के एक गरीब मुस्लिम परिवार में डॉ अब्दुल कलाम का जन्म हुआ था। एपीजे अब्दुल कलाम बचपन से ही पढ़ाई में बहुत अच्छे थे सिर्फ पढ़ाई में ही नहीं बल्कि उनका ज्ञान भी किसी और बच्चे के मुकाबले बहुत ही तेज था।

डॉ अब्दुल कलाम एक बहुत ही गरीब परिवार में जन्मे थे परंतु फिर भी उन्होंने उनका पहाड़ को बहुत मन लगाकर और अच्छे तरीके से किया है और पढ़ाई के साथ-साथ डॉ अब्दुल कलाम अपने परिवार का भी बहुत मदद करते थे आर्थिक स्थिति में भी।डॉ अब्दुल कलाम ने 1954 को अपना ग्रेजुएशन “सेंट जोसेफ़ कॉलेज” से पूरा किया था और उसके बाद 1960 मैं मद्रास  इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉज़ी से एयरोस्पेस इंजीनियरिंग का पढ़ाई किए थे।

डॉ अब्दुल कलम एक बहुत ही अच्छी वैज्ञानिक थे उन्होंने पहले डीआरडीओ के लिए काम किया था और वहां पर सैनिकों के लिए एक छोटा हेलीकॉप्टर बनाया था जिसका डिजाइन उन्होंने ही तैयार किया था।डॉ अब्दुल कलम सिर्फ एक अच्छे वैज्ञानिक ही नहीं थे बल्कि एक अच्छे इंसान भी थे।डॉ अब्दुल कलम बैलिस्टिक मिसाइल के विकास में बहुत सहयोग किए थे और आज सभी लोग इन्हें इस वजह से “द मिसाइल मैन ऑफ इंडिया(the missile man of India)” कहते हैं।

ए.पी.जे. अब्दुल कलाम तीसरे राष्ट्रपति थे भारत के और इन्हे भारत रत्न से सम्मानित भी किया गया था। एपीजे अब्दुल कलाम सिर्फ एक अच्छे वैज्ञानिक ही नहीं थे बल्कि उन्होंने काफी अच्छा अच्छा किताब भी लिखा है अगर हम ए पी जे अब्दुल कलाम के लिखा हुआ कुछ किताब के बारे में बताएं तो वह है इंडिया 2020, विंग्स ऑफ फायर,United Mines, आदि।

निबंध 2 (350 Words)

अगर हम डॉ ए.पी.जे अब्दुल कलाम के पूरे नाम के बारे में बताएं तो वह है “अबुल पाकिर जैनुल्लाब्दीन अब्दुल कलाम”। आज हमारे भारत में सभी लोग डॉ ए.पी.जे अब्दुल कलाम को “दी मिसाइल मैन ऑफ इंडिया”(the missile man of India) के नाम से जानते हैं।

डॉ ए.पी.जे अब्दुल कलाम का जन्म 1931 के 15 अक्टूबर को तमिलनाडु के एक गरीब परिवार पर हुआ था। डॉ ए.पी.जे अब्दुल कलाम बचपन से ही पढ़ाई में बहुत अच्छे थे सिर्फ पढ़ाई में ही नहीं बल्कि उनका ज्ञान भी किसी और व्यक्ति के मुकाबले ज्यादा था।डॉ ए.पी.जे अब्दुल कलाम ने भारत के विकास के लिए बहुत कुछ किया है।

उन्होंने गरीब परिवार पर रहकर भी आपना पढ़ाई को अच्छे तरीके से पूरा किया है।डॉ एपीजे अब्दुल कलाम ने अपना विज्ञान विषय पर ग्रेजुएशन सेंट जोसेफ कॉलेज से किया है और उन्होंने एयरोस्पेस इंजीनियरिंग का पढ़ाई मद्रास इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से पूरा किया है 1954 में।डॉ अब्दुल कलाम बचपन से ही अपने परिवार का काफी मदद करते हैं।

Dr.Abdul Kalam ने 1958 में पहली बार वैज्ञानिक के रूप में DRDO में Join हुए थे और डीआरडीओ में ज्वाइन होने के बाद उन्होंने भारतीय सेना के लिए छोटा हेलीकॉप्टर बनाया था और उसके बाद उन्होंने ISRO को Join किया था।Dr.Abdul Kalam ने भारत को और आगे ले जाने के लिए बहुत मेहनत किया है।उन्होंने देश का रक्षा करने के लिए बहुत तरह का मिसाइल बनाए थे अगर हम उनके बनाया गया कुछ मिसाइल के बारे में बताएं तो वह है Prithvi, Agni, Trishul,Akash, Nag।

अब्दुल कलाम एक अच्छे वैज्ञानिक होने के साथ-साथ एक अच्छे राष्ट्रपति भी थे।राष्ट्रपति और वैज्ञानिक होने के साथ-साथ उन्होंने काफी सारे किताब भी लिखा है अगर हम उनके कुछ किताब के बारे में बताएं तो वह है India 2020, Wings of Fire, United Mines, etc। भारतीय विकास में एपीजे अब्दुल कलाम का काफी योगदान है।

निबंध 3 (550 Words)

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम भूमिका:- डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम एक नामचीन वैज्ञानिक होने के साथ-साथ एक बहुत ही अच्छे राष्ट्रपति भी थे। एपीजे अब्दुल कलाम हमारे भारत के 11वीं राष्ट्रपति थे और सिर्फ यही नहीं बल्कि इन्होंने 2002 से लेकर 2007 तक राष्ट्रपति का पद को निभाया था।आज हम में से ज्यादातर लोग डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम को ” दी मिसाइल मैन ऑफ इंडिया(The missile man of India)” के नाम से पहचानते हैं।डॉ एपीजे अब्दुल कलाम का बहुत योगदान है Indian Space Research Organization(भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन) में।


उन्होंने Indian Space Research Organization पर बहुत सारे प्रोजेक्ट के ऊपर काम किए थे अगर हम उनमें से कुछ प्रोजेक्ट के बारे में बात करें तो वह है Rohini-1,Project Valeant,Project Devil और उन्होंने इसके साथ साथ Agni और Prithvi missiles के ऊपर भी काम किए थे।भारत में परमाणु के विकास के लिए एपीजे अब्दुल कलाम जाने जाते हैं अगर हम ए पी जे अब्दुल कलाम के बनाए हुए कुछ मिसाइल के बारे मैं बताए तो वह है Prithvi Agni Trishul Akash और Nag।

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म और वरदान- डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म 1931 के 15 अक्टूबर को हुआ था तमिलनाडु के एक गरीब परिवार में। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम का पिता का नाम था जैनुलदेबेन और उनका माता का नाम था आशियम्मा।अब्दुल कलाम का परिवार आर्थिक रूप से बहुत गरीब था परंतु इसके बावजूद भी एपीजे अब्दुल कलाम ने उनका पढ़ाई को अच्छे तरीके से पूरा किया। एपीजे अब्दुल कलाम पढ़ाई करने के साथ-साथ परिवार का भी काफी मदद करते थे।

एपीजे अब्दुल कलाम उनके विज्ञान विषय के ऊपर ग्रेजुएशन सेंट जोसेफ कॉलेज से पूरा किए थे और फिर उन्होंने मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से एयरोस्पेस का पढ़ाई को पूरा किए थे।डॉ एपीजे अब्दुल कलाम ने अपना पढ़ाई को पूरा करने के बाद डीआरडीओ मैं वैज्ञानिक के रूप से ज्वाइन किए थे और फिर उन्होंने भारतीय सेना के लिए छोटा हेलीकॉप्टर बनाए थे।

एपीजे अब्दुल कलाम Integrated Guided Missile Development Program के मुख्य कार्यकारी(Chief Executive) थे और साथ ही में एपीजे अब्दुल कलाम Indian Space Research Organization के  first indigenous satellite launch vehicle प्रोजेक्ट के भी  डायरेक्टर थे।

एपीजे अब्दुल कलाम 1992 से 1999 तक Defense Research and Development Organization के Chief Scientific Adviser थे।Pokhran II nuclear परीक्षा जब सफल हुआ था तभी से एपीजे अब्दुल कलाम को “थे मिसाइल मैन ऑफ इंडिया(the missile man of India)” कहां गया था।एपीजे अब्दुल कलाम भारत के एकमात्र ऐसे वैज्ञानिक थे जिन्होंने 2002 से लेकर 2007 तक राष्ट्रपति के पद में काम किए थे।

एपीजे अब्दुल कलाम एक अच्छे वैज्ञानिक और राष्ट्रपति के साथ एक बहुत ही अच्छे लेखक भी थे उन्होंने बहुत सारे अच्छे अच्छे किताब लिखे हैं अगर हम उन किताबों के बारे में बताएं तो वह है Inspirational Thoughts India 2020   Ignited Minds Mission India The Luminous Sparks etc। एपीजे अब्दुल कलाम देश के विकास के लिए भी बहुत कुछ किए हैं जो कि हमारे लिए एक बहुत ही बड़ा वरदान है।

उपसंहार:-

हम सभी जानते हैं कि डॉ एपीजे अब्दुल कलाम एक बहुत ही अच्छे वैज्ञानिक और राष्ट्रपति थे परंतु उन्होंने ऐसे बहुत सारे विश्वविद्यालय और संस्थानों में प्रोफ़ेसर के रूप में भी  स्टूडेंट्स को पढ़ाई हैं और इस वजह से एपीजे अब्दुल कलाम को एक अच्छा प्रोफेसर भी कहा जाता है।डॉ एपीजे अब्दुल कलाम को बहुत सारे पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया है जैसे कि Bharat Ratna, Padma Vibhushan, Padma Bhushan, Indira Gandhi Award, Veer Savarkar Award, Ramanujan Award आदि।


Friends में Hope करता हूं कि आप सभी को हमारा आज का यह Informative आर्टिकल जरूर पसंद आया होगा आज के इस आर्टिकल पर हमने आप सभी को ए.पी.जे. अब्दुल कलाम पर निबंध – APJ Abdul Kalam Essay In Hindi! के बारे में बताया है यदि आप अपने स्कूल में अच्छे तरीके से एपीजे अब्दुल कलाम के ऊपर निबंध लिखना चाहते हैं तो आज का यह आर्टिकल आप सभी के लिए बहुत ही हेल्पफुल होने वाला है।


उम्मीद है की आपको ए.पी.जे. अब्दुल कलाम पर निबंध – APJ Abdul Kalam Essay In Hindi! का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।

आपको यह पोस्ट कैसा लगा नीचे कॉमेंट करके ज़रूर बताए, और अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसको अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here