बिल गेट्स जीवनी – Biography Of Bill Gates In Hindi

0

बिल गेट्स जीवनी – Biography Of Bill Gates In Hindi! दोस्तों बिल गेट्स का नाम तो आप सब ने सुना ही होगा, और अगर आप बिल गेट्स के बारे में डिटेल में जानना चाहते हो तो आज इस पोस्ट में हम बिल गेट्स जीवनी, बिल गेट्स का जीवन परिचय (Biography Of Bill Gates In Hindi) के बारे में जानिंगे।

सफलता का सपना देखना आसान होता है, पर उसे साकार करना उतना ही मुश्किल होता है। जिस व्यक्ति ने उस सपने को साकार कर लिया तो समझ लो, कि वह अपने जीवन में सफल हो गया। सफल होने के लिए कठिन परिश्रम और धैर्य की आवश्यकता होती है।

आजकल हर कोई अमीर होना चाहता है परंतु जरूरी नहीं कि हर कोई अमीर बन जाएं आजकल दिन प्रतिदिन इतनी प्रतिस्पर्धा बढ़ चुकी है, कि हर किसी को सफलता मिल जाए, ऐसा मुमकिन नहीं है। किसी व्यक्ति का दिमाग अनुसंधान क्षेत्र में लगता है तो किसी का नई चीजें विकसित करने में लगता है।

आज के समय में हर कोई ना कोई ऐसा कार्य अवश्य करता है जिससे कि उसे आर्थिक तथा सामाजिक दोनों तरह का लाभ प्राप्त हो सके। उसी तरह देश में तो हर कोई नाम तो प्रसिद्ध कर सकता है परंतु विदेश तथा दुनिया में नाम प्रसिद्ध करने के लिए कड़ी मेहनत की आवश्यकता होती है।

आज देश के ऐसे कई अमीर व्यक्ति है जो विश्व भर में जाने जाते हैं, इतना धन कमा लिया है कि अगर वह उम्र भर काम भी ना करें तो बड़े आराम से ऐसो आराम के साथ रह सकते हैं। ऐसे ही एक व्यक्ति है जो विश्व में दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों में गिने जाते हैं। आज अमीर व्यक्तियों की सूची में वहां दूसरे नंबर पर आते हैं हम बात कर रहे हैं बिल गेट्स की।

आज इस लेख के माध्यम से हम आपको Bill Gates (बिल गेट्स जीवनी – Biography Of Bill Gates In Hindi) के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे तथा उनके बारे में यह भी बताएंगे कि एक गरीब से अमीर बनने का रास्ता कितना लंबा और मुश्किल भरा था, उन्होंने ऐसा क्या काम किया कि इस मुकाम को हासिल कर पाए।

बिल गेट्स जीवनी – Biography Of Bill Gates In Hindi

आज दुनिया में तकनीक प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे हैं तकनीकी ज्ञान रखने वाले लोग अनुसंधान पर बड़े गहनता पूर्वक कार्य करते हैं। जब से हमारे जीवन में कंप्यूटर का आगमन हुआ है वैसे ही उसका प्रचलन भी बड़े तेजी से बढ़ता गया है। आज कंप्यूटर एक सामान्य बहु प्रचलित मशीन के रूप में हर किसी के घर में मिल जाया करती है। इसमें अलगअलग कंपनी नई नई तकनीकी डालकर लोगों तक पहुंच आती है। इसी तरह दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति ने भी ऐसा ही कुछ किया है। उन्होंने, हम लोगों को अपने ज्ञान के माध्यम से मदद कि है।

बिल गेट्स ने ऐसी एक तकनीक का आविष्कार किया जो लोगों के लिए बड़ी सरल और सुविधाजनक साबित हुई आज हर कंप्यूटर में उन्हीं के द्वारा बनाया गया सॉफ्टवेयर डाला जाता है जिसे हम माइक्रोसॉफ्ट कहते हैं। उन्होंने बहुत ही कम उम्र में एक ऐसी कंपनी खड़ी कर ली है जिसका उपयोग आज हर कोई कर रहा है। उन्होंने अपने एक दोस्त के साथ मिलकर माइक्रोसॉफ्ट कंपनी बनाई जो उद्योग जगत में एक नई क्रांति लाई है, बिल गेट्स ने मित्र पौल एलेन के साथ मिलकर 1975 में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की स्थापना की है।

अगर उनके व्यक्तित्व की बात करें तो वह स्वभाव से बड़े ही सरल और शांत मिजाज के है और वह अपने पढ़ाई में व्यस्त रहने वालों में से एक है। उनके जीवन में जाने कितनी बाधाएं आई और समस्याएं उत्पन्न हो फिर भी उन्होंने उन समस्याओं को खत्म करते हुए आगे बढ़ते रहें और इस मुकाम पर पहुंचे हैं कि शायद ही कोई वहां तक पहुंचा होगा।

बिल गेट्स का जन्म

बिल गेट्स का जन्म 28 अक्टूबर 1955 में वाशिंगटन राज्य संयुक्त राज्य अमेरिका में हुआ। उनको बचपन से ही कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में बड़ी रूचि थी उन्होंने महज 13 वर्ष की आयु में थी कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में रुचि दिखाते हुए टेक्नोलॉजी के द्वारा नए नए बिजनेस योजनाएं और रणनीति बनाने लगे थे। जब उनका जन्म हुआ, तब उनके मातापिता बहुत ही खुश थे बिल गेट्स तीन भाई बहन है बड़ी बहन का नाम क्रिस्टी और छोटी बहन का नाम  लिब्बी है। बिल गेट्स का असली नाम विलियम हेनरी गेट्स III है।

बिल गेट्स के माता पिता

बिल गेट्स एक सामान्य परिवार में रहते थे उनके पिता का नाम जेडब्ल्यू मैक्स वेल था, जो एक प्रमुख वकील भी थे तथा राष्ट्रीय बैंक के अध्यक्ष भी थे। उनकी माता मैरी मैक्स वेल गेट्स थी, जो इंटर स्टेट बैंक सिस्टम और यूनाइटेड के निर्देशक मंडल में सेवारत थी। एक शिक्षित परिवार में रहते हुए, बिल गेट्स ने अपने मातापिता से बैंकिंग से संबंधित कार्यों को सीखा और उसे अपने कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के माध्यम से दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति में शुमार होने का सपना देखा और वह केवल 13 वर्ष की आयु में अपने सपने को पूरा करने में लग गए थे।

बिल गेट्स की शिक्षा

बिल गेट्स की प्रारंभिक शिक्षालेक साइड स्कूलमें हुई। लगभग सभी विषयों का अच्छा ज्ञान था मगर उनकी रूचि ज्यादातर गणित और विज्ञान में ही रही। उन्होंने फिर हावर्ड विश्वविद्यालय में दाखिला लिया परंतु वे अपना स्नातक पूरा नहीं कर पाए, उनको ज्यादा पढ़ाई का मौका नहीं मिला कम ही उम्र में उन्होंने अपनी रुचि कंप्यूटर प्रोग्रामिंग और बिजनेस में दिखाएं और उसी को आगे भी किया।

बिल गेट्स जब महज 13 वर्ष के थे तब से ही उन्होंने कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में रुचि दिखाना चालू कर दी थी उन्होंने कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के बारे में जानकारी प्राप्त करना चालू कर दी और उसी में अपना करियर बनाने का निर्णय भी लिया कहा जाता है कि बिल गेट्स की माता ने अपने बच्चों को पूरा वक्त पढ़ाने में ही लगाया करते थी, जिस वजह से उन्हें काफी समस्या का सामना भी करना पड़ता था। अपने बच्चों को प्रोत्साहन देने के लिए सामाजिक मतभेदों को दूर करने में समाज सेविका के रूप में भी कार्य करना अच्छा लगता था, यही सारी खुबिया उन्होंने अपने माता से प्राप्त की है।

बिल गेट्स का करियर

बिल गेट्स ने अपना करियर महज 13 वर्ष की उम्र में ही चालू कर दिया था उनके स्कूल के दोस्त पॉल एलन उनसे 2 साल बड़े थे। उनके साथ मिलकर उन्होंने अपने कंप्यूटर प्रोग्राम की शुरुआत की। बिल गेट्स स्कूल में कंप्यूटर के जुड़ी सुविधाएं और उनकी उपलब्धता को सुनिश्चित किया करते थे। जब भी कोई कंप्यूटर खराब होता था तो कंप्यूटर को ठीक कर देते थे। अपना सारा समय लैब में ही बिताया करते थे और कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर के साथ छेड़खानी भी किया करते थे। दोनों को लैब में एक शर्त पर रखा जाता था कि वह प्रोग्राम से Error निकाल सके।

जब बिल गेट्स 15 साल की उम्र में थे तो उन्होंने अपने मित्र के साथ Traf-O- Data Program बनाया, जो एक Seattle City के ट्रैफिक पैटर्न पर नजर रखा करता था उन्होंने इस डाटा प्रोग्राम को ऐसा बनाया था कि उसे बड़े आसानी से ट्राफिक संबंधित असुविधा को दूर किया जा सकता था उन्होंने अपने सिटी के ट्राफिक पैटर्न को सुधारने की कोशिश की, इस कोशिश के लिए उन्हें $20000 दिया गया था जो उनकी पहली कमाई थी। अतः हम यह कह सकते हैं कि बिल गेट्स की पहली कमाई $20000 थी।

इस तरह से उन्होंने एलन के साथ मिलकरबेसिकनाम के प्रोग्राम को बनाया जो माइक्रो कंप्यूटर की प्रसिद्ध प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है। यह कोशिश सफल हो गई फिर उन्होंने अपने दूसरे सिस्टम पर काम करना चालू कर दिया। उन्होंने कुछ सालों में ही माइक्रोसॉफ्ट सॉफ्टवेयर बना लिया जो लगभग 5 साल बाद दुनिया के सामने नजर आया इसी माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के जरिए बिल गेट्स दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए।

माइक्रोसॉफ्ट का इतिहास

20 नवंबर 1985 को माइक्रोसॉफ्ट विंडोज नाम की, एक ऑपरेटिंग सिस्टम कंपनी दुनिया के सामने आई इसमें ऑपरेटिंग सिस्टम सैल की तरह का करने वाली सेटिंग डाली गई, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग विंडोज में काम कर सकें। आज 90% कंप्यूटर में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी का Software लगा हुआ है। 1989 में माइक्रोसॉफ्ट अपना ऑफिस भी खोल लिया उसमें बहुत सी एप्लीकेशन जैसे माइक्रोसॉफ्ट वर्ड और एक्सेंट आदि सिस्टम भी डाल दिए गए। अब बेहतरीन गुणवत्ता के साथ पर्सनल कंप्यूटर में हर कोई माइक्रोसॉफ्ट ही use करता था। जिस वजह से लोगों को बहुत ही पसंद आने लगा।

जब 1990 में इंटरनेट विकसित हुआ तो उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट पर बहुत ही अच्छे से कार्य किया और उसकी पूर्ण विकास के लिए पूरा ध्यान दिया ताकि जो भी इसका इस्तेमाल करें, उन्हें इंटरनेट द्वारा किसी प्रकार की समस्या उत्पन्न ना हो और माइक्रोसॉफ्ट में अच्छे से कार्य हो सके। 2000 के आसपास बिल गेट्स माइक्रोसॉफ्ट ने कंपनी के सीईओ के पद से इस्तीफा दे दिए परंतु आज भी वह चेयरमैन के पद पर उपस्थित है।

उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट में एक नया पद बना लिया है जिसका नाम चीफ सॉफ्टवेयरआर्किटेक्ट है, उन्होंने 2014 में चेयरमैन के पद से भी इस्तीफा दे दिया और अब माइक्रोसॉफ्ट के नए सीईओ सत्या नदीला बन गए हैं।

बिल गेट्स के परोपकार के कार्य

बिल गेट्स ने अपने जीवन बहुत धन कमाया परंतु उनमें मानवता भी बहुत अच्छे से भरी हुई है। बिल गेट्स हमेशा जरूरतमंद लोगों की मदद करते हैं। जब भी देश में किसी प्रकार की आपदा या प्रकोप होता है, वह आर्थिक रूप से भी आम नागरिकों की सहायता करते हैं। उन्होंने इसके लिए बिल गेट्स फाउंडेशन ही बनाया है। इस फाउंडेशन के माध्यम से उन्होंने अनेकों अनुदान और प्रकार के कार्य किए हैं।

उन्होंने अपने जीवन में अभी तक कृषि कार्य छात्रवृत्ति, एड्स निवारण बीमारियों तथा अन्य कई कार्यों के लिए बड़ी राशि भी अनुदान की है। उन्होंने 2000 में गेट्स फाउंडेशन के तहत कैंब्रिज विद्यालय को 210 मिलियन की छात्रवृत्ति भी प्रदान की है। उनका इस प्रकार का कार्य यह साबित करता है कि पैसों के साथसाथ लोगों में इंसानियत भी होनी चाहिए ताकि एक दूसरे की मदद करके हम एक बेहतर दुनिया का निर्माण कर सकें।

बिल गेट्स को दिए गए सम्मान

बिल गेट्स ने वैसे तो अपने जीवन में कई सम्मान प्राप्त किए हैं जिनमें से प्रमुख है:- टाइम्स पत्रिका ने बीसवीं सदी के सबसे अधिक प्रभावी व्यक्ति में से एक माना है यह रिकॉर्ड 2004, 2005 एवं 2006 में कायम रहा। साथ ही रॉयल स्टेचू ऑफ़ टेक्नोलॉजी आदि सम्मान से भी नवाजा जा चुका है।

उन्हें 2005 में रानी एलिजाबेथ सेकंड द्वारा लाइट कमांडर ऑफ ऑर्डर ऑफ ब्रिटिश एंपायर मानक उपाधि से भी नवाजा जा चुका है। उन्होंने अपने जीवन में ऐसे कई कार्य किए है। जिसके लिए दुनिया भर के देश उन्हें कोई ना कोई उपाधि तथा सम्मान से नवाजते ही है उनमें से एक मेक्सिको ने भी अन पाईस दा लेक्टोरेस के कार्यक्रम में Order of the Aztec Eagle  के पद से सम्मानित किया।

बिल गेट्स की किताबें

बिल गेट्स बिजनेस के साथसाथ लिखने में भी रुचि रखते थे उन्होंने अपने जीवन में दो पुस्तक लिखी है जिनका नाम आगे की योजना है, जो 1975 में प्रकाशित हुई थी। इसमें व्यक्तिगत इनपुट क्रांति के बारे में संक्षिप्त जानकारी दी गई है। जिससे भविष्य में होने वाले परिवर्तनों का अनुमान तथा वर्णन किया गया है तथा उनकी दूसरी पुस्तक बिजनेस स्पीड ऑफ थॉट यहां 1999 में प्रकाशित हुई थी इसमें डिजिटल इन इंफ्रास्ट्रक्चर और सूचना नेटवर्क प्रतियोगिता में किस तरह से वृद्धि हासिल करने के बारे में वर्णन मिलता है।

बिल गेट्स का कोरोना वायरस के लिए सहयोग

बिल गेट्स ने कोरमा महामारी को रोकने के लिए भी करोड़ों रुपयों का दान किया है उन्होंने 1000 करोड़ रुपए का दान किया है, ताकि इस महामारी को रोका जा सके उन्होंने गेट्स फाउंडेशन की तरफ से वाशिंगटन शहर को 50 करोड़ देने की भी घोषणा की है, और उनकी टीका तथा दवा के लिए साथ मिलकर काम करने का भी सहयोग देने का वादा किया है। उन्होंने अस्पतालों तथा डॉक्टरों को भी इस महामारी से बचाने के लिए बहुत ज्यादा मदद की है इसका जल्द से जल्द टीका निकालने के लिए भी वह अव्वल स्तर पर कार्य कर रहे हैं।

आशा करता हूं मेरे द्वारा दी गई जानकारी से आप संतुष्ट होंगे। इस लेख का उद्देश्य बिल गेट्स के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान करना है ताकि हर कोई उन्हीं के जैसे कठिन परिश्रम करके उस बुलंदी पर पहुंच सकें जहां पर पहुंचे हैं उन्होंने उस बुलंदी पर कई सालों तक राज किया और आज भी राज कर रहे हैं, उन्होंने अपने जीवन में पैसों के साथसाथ लोगों का प्यार भी कमाया है और अनुदान तथा दान के माध्यम से लोगों की समय समय पर मदद भी की है।

उम्मीद है की अब आपको बिल गेट्स से जुड़ी पूरी जानकारी मिल गयी होगी, और आप बिल गेट्स जीवनी, बिल गेट्स का जीवन परिचय (Biography Of Bill Gates In Hindi) के बारे में जान गये होगे।

उम्मीद है की आपको बिल गेट्स जीवनी – Biography Of Bill Gates In Hindi! का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।

आपको यह पोस्ट कैसा लगा नीचे कॉमेंट करके ज़रूर बताए, और अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसको अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here