Slogans on Children’s Day in Hindi | (97+ बाल दिवस पर नारें)


Slogans on Children’s Day in Hindi | (97+ बाल दिवस पर नारें) प्रत्येक वर्ष 14 नवंबर संपूर्ण भारत में बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है जिस दौरान भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु को याद किया जाता है तथा इन्हें श्रद्धा पूर्वक श्रद्धांजलि दी जाती है।

पंडित जवाहरलाल नेहरू को बच्चे प्यार से चाचा नेहरू पुकारते थे, इस कारण पंडित जवाहरलाल नेहरू और बच्चों के बीच अनोखा रिश्ता था आज भी सभी बच्चें 14 नवंबर को पंडित जवाहरलाल नेहरू को उनके जन्मदिन पर याद करते है।

बाल दिवस का यह प्यारा दिन, जिसे बच्चे मनाते सारा दिन।

बाल दिवस का यह प्यारा दिन, जिसे बच्चे मनाते सारा दिन।

कंधों में बस्ता टांगकर चले पढ़ने-लिखने, छोटे-छोटे बच्चे चले राष्ट्र निर्माण करने।

बाल दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य पंडित जवाहरलाल नेहरू का जन्म तथा प्रत्येक बच्चों को उनके अधिकार दिलाना है,जो बच्चे अपने हालातों के कारण उम्र से पहले ही जिम्मेदारियों में दब जाते हैं तथा जिन्हें कुछ पैसे कमाने के लिए छोटी उम्र से ही कार्य करने पड़ते हैं ऐसे बच्चों को उनके स्वतंत्रता का अधिकार दिलाना बाल दिवस का मुख्य लक्ष्य है।  


Slogans on Children’s Day in Hindi | (97+ बाल दिवस पर नारें)

Children's Day Slogans In Hindi (बाल दिवस पर स्लोगन)

14 नवंबर को हमारे देश में बाल दिवस मनाया जाते हैं जिससे प्रत्येक बच्चों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया जाता है। प्रत्येक बच्चे देश का भविष्य हैं आज के बच्चे ही कल के नेता बनते हैं और उनके हाथ में ही देश की संपूर्ण प्रणाली समाहित होती है बच्चे यदि बेहतर सोच विकसित रखते हैं तो उस ज्ञान को वे लोग कल देश के विकास में उपयोग कर सकते हैं।

बाल दिवस को Children’s day भी कहते हैं, चाचा नेहरू को अपने संपूर्ण जीवन m3n बच्चों से अत्यधिक लगाव रहा, वे बच्चों को विभिन्न प्रकार के उपहार भी दिया करते थे। पंडित जवाहरलाल नेहरू हमेशा इस बात की चर्चा किया करते थे कि बच्चों को स्वाधीनता पूर्वक प्रेम से बड़ा किया जाए क्योंकि उनके हाथ में ही कल को देश की अर्थव्यवस्था रहेगी और वे देश का भविष्य बना सकते हैं।

आज के बच्चे ही कल देश की ताकत और नींव बनेंगे, नेहरू जी द्वारा बच्चों को दिए जाने वाले प्रेम के कारण ही प्रत्येक बच्चे प्रेम से उन्हें चाचा नेहरू कहकर पुकारते थे। हमने Slogans on Children’s Day in Hindi (बाल दिवस पर स्लोगन) पर जो भी स्लोगन लिखा है बह है –

बाल दिवस आया, बच्चो के लिए मनोरंजक अवसर लाया।

चाचा नेहरु का जन्म दिवस आया है, बाल दिवस का अवसर लाया है।

चाचा नेहरु का जन्म दिवस आया है, बाल दिवस का अवसर लाया है।

दिन सुरमयी बच्चों के ये मनमोहक स्वर, आज आ गया बाल दिवस का अवसर।

दिन सुरमयी बच्चों के ये मनमोहक स्वर, आज आ गया बाल दिवस का अवसर।

बाल दिवस का यह प्यारा दिन, जिसे बच्चे मनाते सारा दिन।

बाल दिवस का यह प्यारा दिन, जिसे बच्चे मनाते सारा दिन।

कंधों में बस्ता टांगकर चले पढ़ने-लिखने, छोटे-छोटे बच्चे चले राष्ट्र निर्माण करने।

कंधों में बस्ता टांगकर चले पढ़ने-लिखने, छोटे-छोटे बच्चे चले राष्ट्र निर्माण करने।

बच्चो का यह विशेष त्योहार, जिनपे बच्चो के मिलते है मनोरंजक कार्यक्रमों के उपहार।


बच्चो का यह विशेष त्योहार, जिनपे बच्चो के मिलते है मनोरंजक कार्यक्रमों के उपहार।

आओ बच्चो संकल्प लो इस बाल दिवस तुम कोई ऐसा काम करोगे, जिससे तुम अपने देश का उंचा नाम करोगे।

आओ बच्चो संकल्प लो इस बाल दिवस तुम कोई ऐसा काम करोगे, जिससे तुम अपने देश का उंचा नाम करोगे।

आओ मिलकर बाल दिवस मनाये, देश की आने वाली पीढ़ी को उनका महत्व समझायें।

आओ मिलकर बाल दिवस मनाये, देश की आने वाली पीढ़ी को उनका महत्व समझायें।

बच्चे अपने माता-पिता की जान होते हैं, ऐसा कहते हैं की बच्चे भगवान होते हैं।

बच्चे ही तो लाते हैं उज्जवल भविष्य की भोर, सुना पद जाता घर सारा जो मचे न उनका शोर।

बच्चे शिक्षित होंगे तो देश सबल होगा , इस से ही तो भविस्य की हर समस्या का हल होगा।

नेहरू जी को बच्चे प्यारे थे ऐसा कहते हैं, इसीलिए हम सब के दिल में आज भी वो रहते हैं।

बच्चो का मन होता चंचल, इनसे बांटे खुशियों के पल।

खेलेंगे कूदेंगे जाएंगे, बच्चे बल दिवस मनाएंगे।

शिक्षा पर बच्चो का अधिकार है, इसके बिना बाकि सब बेकार है।

बल दिवस का यह दिन, जीवन में लाये खुशियां नवीन।

बल दिवस पर है ये नारा, बच्चो से है राष्ट्र हमारा।

बच्चे जो मुस्कुराते हैं वो सबके दिल को भाते हैं।

आओ मिलकर झूमे गाये साथ मिलकर बाल दिवस का त्योहार मनाये।

जिनका मन होता है अविरल, कोई और नही वो है प्यारे बच्चे चंचल।

बच्चे देश का भविष्य होते है, इन्हे तैयार करना देश के भविष्य को तैयार करना है।

बच्चो की देखभाल इस प्रकार से की जानी चाहिये कि वह आने वाले समय में देश को और ज्यादे सशक्त बना सके।


ना भूलो बच्चो क्या खोया क्या पाया, देखो आज तुम्हारा बाल दिवस आया।

जीवन में तुम सदा आगे बढ़ो, इस बाल दिवस कुछ ऐसा प्रण लो।

यदि हम बच्चो के भविष्य निर्माण का कार्य करेंगे तो हम राष्ट्र निर्माण का कार्य करेंगे।

जिनकी मुस्कान हर तकलीफो को दूर कर देती है, वह छोटे बच्चे के अलावा और कौन है।

कभी अपने बातो पर इठलाते, कभी छोटी-छोटी बातो पर नाराज हो जाते; वह है छोटे छोटे बच्चे, जिनके हर कारनामे सबके मन को भाते।

बच्चो तुम हो देश के प्रगति की आधारशिला, कार्य करो ऐसे की हमारा भारत देश बने सबसे निराला।

बच्चों तुम हो सबसे अनोखे इस बात को मानो, देश को आगे ले जाना है ये मन में ठानों।

बाल दिवस पर बस यही है नारा, भारत को है फिर से विश्व गुरु बनाना।

बाल दिवस दिन नही एक संकल्प है, जो हमें भारत के आने वाली पीढ़ी की प्रगति के लिए लेनी होगी।

बाल दिवस क्या है

बाल दिवस वास्तव में एक ऐसा सुंदर दिन है जिस दिन संपूर्ण कार्यों को बच्चे ही निर्धारित करते हैं उस दिन सब कुछ बच्चों के ऊपर न्योछावर रहता है और बच्चों को उनके सही अधिकार, सही निर्णय ,तथा सही देखभाल के तरीके और उनकी उचित शिक्षा के लिए 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है।

साथ ही इसका उद्देश्य पंडित जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन पर उन्हें याद करना ,श्रद्धांजलि देना भी रहता है। इस दिन देश के प्रत्येक स्थान पर बच्चों द्वारा चाचा नेहरू को याद किया जाता है और विद्यालयों तथा सार्वजनिक क्षेत्रों में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

पंडित जवाहरलाल नेहरू “चाचा नेहरू” के बारे में

पंडित जवाहरलाल नेहरु जी का जन्म 14 नवंबर 1889 ईसवी को हुआ । ये देश के प्रथम प्रधानमंत्री थे जिन्होंने देश पर सबसे लंबे समय तक अपना अच्छा शासन बनाए रखा। नेहरू जी देश के लिए शांति और समृद्धि के महान पात्र रहे, यही कारण है कि पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती देश के लिए एक पवित्र और महान त्योहार है ।

पंडित नेहरू न सिर्फ अपने कार्यों के लिए नहीं और ना ही देश की सेवा के लिए जाने जाते हैं बल्कि ये सबसे ज्यादा प्रसिद्धि बच्चों की सेवा के लिए प्राप्त करते हैं ।इनका बच्चों को प्रेम प्रतीक के तौर पर गुलाब का फूल देना अत्यंत प्रभावशाली था।

बाल दिवस कब मनाया जाता है

हमारे देश में बाल दिवस 14 नवंबर को मनाया जाता है, 14 नवंबर को हमारे देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु जी का जन्म हुआ था इसी उपलक्ष्य पर बाल दिवस मनाया जाता है।

विश्व बाल दिवस या अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस

विश्व बाल दिवस प्रत्येक वर्ष 20 नवंबर को विश्व के संपूर्ण देशों में मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र संघ की एक महासभा द्वारा पहली बार विश्व बाल दिवस 20 नवंबर 1954 को मनाया गया।

बाल दिवस क्यों मनाया जाता

विश्व बाल दिवस का उद्देश्य बच्चों को उनके अधिकार, देखभाल, शिक्षा के क्षेत्र में प्रत्येक लाभ और शिक्षा के लिए जागरूक करना है। क्योंकि देश के बच्चे ही देश के भविष्य के हालातों को अच्छा और मजबूत बनाने में मदद करता हैं।

पंडित जवाहरलाल नेहरू प्रधानमंत्री होने के बावजूद भी हर बच्चों के साथ प्रेम जाहिर करते थे, और वह हमेशा बच्चों के बीच रहना पसंद करते थे। भारत की स्वतंत्रता के बाद उन्होंने बच्चों के विकास के लिए, उन्हें बेहतर शिक्षा दिलाने के लिए ऐसे कार्य किए जिसके कारण बच्चों का जीवन आसान बन सका।

पंडित जवाहरलाल नेहरू ने भारत में युवाओं के साथ-साथ बच्चों की शिक्षा प्रणाली में भी सुधार किया जिस कारण बच्चों का कल्याण हो पाया। पंडित जवाहरलाल नेहरू ने विभिन्न प्रकार के शिक्षा के संस्थानों की स्थापना जिनमें से भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान और भारतीय प्रबंधन संस्थान मुख्य थे।

भारत में बाल दिवस कैसे मनाया जाता है

बाल दिवस के दिन संपूर्ण भारत में विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं और इस दिन बच्चों द्वारा शिक्षकों को तथा शिक्षकों द्वारा अपने बच्चों को कुछ पुरस्कार दिए जाते हैं । इस दिन सार्वजनिक स्थानों पर विभिन्न नेताओं तथा शिक्षकों द्वारा झंडारोहण किया जाता है और साथ ही विभिन्न प्रकार के खेलों के आयोजन भी किया जाता हैं ।

बाल दिवस का महत्व क्या है

हर देश का भविष्य उस देश के बच्चों के हाथ में होता है इसीलिए देश का भविष्य अच्छा बनाने के लिए उस देश के बच्चों को अच्छी शिक्षा के माध्यम से देश के प्रति जागरूक करना अत्यंत आवश्यक रहता है इसलिए बाल दिवस का महत्व भी इस बात पर जाता है कि हमें बच्चों पर देश प्रेम की भावना रखनी है।

उम्मीद है की आपको Slogans on Children’s Day in Hindi | (97+ बाल दिवस पर नारें) से जुड़ी सभी जानकारी मिल चुकी होगी।


यह पोस्ट कैसा लगा नीचे कॉमेंट करके ज़रूर बताए, और यदि आपको यह पोस्ट पसंद आया है, तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरूर Share करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here