दुर्गा पूजा पर निबंध – Essay On Durga Puja In Hindi

0

दुर्गा पूजा पर निबंध – Essay On Durga Puja In Hindi! दोस्तों अगर आप दुर्गा पूजा पर निबंध तलाश रहे हो तो आजका यह पोस्ट आपके लिए काफ़ी हेल्पफ़ुल हो सकता है, क्यूकी आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की दुर्गा पूजा क्या है? कब मनाया जाता है? Durga Puja Essay For Every Class in Hindi.

हर महीना हमारे भारत में कोई ना कोई त्यौहार होता है इस वजह से हमारे देश को त्योहारों का देश भी कहा जाता है। जैसे हमारे भारत में दीवाली के उत्सव को बहुत धूमधाम से मनाया जाता है ठीक उसी तरह से दुर्गा पूजा के उत्सव को भी बहुत धूमधाम से मनाया जाता है।

जैसे दीपावली में सभी लोग बहुत आनंद करते हैं ठीक उसी तरह से दुर्गा पूजा में भी सभी लोग आनंद करते हैं यह उत्सव लगातार 10 दिन तक चलता है और यह हिंदू धर्म का एक बहुत ही पवित्र उत्सव है।


यदि आप सभी स्कूल में पढ़ते हैं और क्लास 1 से लेकर 12 के student है तब आज का यह आर्टिकल आप सभी के लिए बोहोत ही Informative होने वाला है क्योंकि आज के इस आर्टिकल पर हम आप सभी को दुर्गा पूजा पर निबंध – Essay On Durga Puja In Hindi के बारे में बताएंगे जो कि आपको बाद में निबंध लिखने में मदद करेगा।

दुर्गा पूजा पर निबंध – Essay On Durga Puja In Hindi

निबंध 1 (200 Words)

हिंदू धर्म के लोगों के लिए दुर्गा पूजा एक बहुत ही बड़ा पूजा है। दुर्गा पूजा बुराई के ऊपर जीत की खुशी के लिए मनाया जाता है अगर हम इस उत्सव को मनाने के पीछे कारण के बारे में बात करें तो देवी दुर्गा ने लगातार 9 दिन तक युद्ध करने के बाद राक्षस महिषासुर को वध किया था और इसी खुशी में दुर्गा उत्सव मनाया जाता है।

दुर्गा पूजा हिंदू धर्म का एक प्रसिद्ध उत्सव है जिसमें सिर्फ हिंदू धर्म के लोग ही नहीं बल्कि और भी कई और अन्य धर्म के लोग भी मिलकर इस उत्सव को मनाते हैं। दुर्गा पूजा के दिन छोटे बच्चे से लेकर बड़े सभी नया कपड़े पहनते हैं और इस त्यौहार को और खास बनाने के लिए सभी लोग अपने घर पर अलग-अलग तरह के पकवान बनाते हैं।

दुर्गा पूजा का उत्सव लगातार 9 दिन तक मनाया जाता है। दुर्गा पूजा के उत्सव के कारण सभी लोग अपने दोस्तों रिश्तेदारों के साथ घूमते हैं इस दिन बहुत सारे लोगों के घर में मेहमान आते हैं और सभी लोग बहुत जश्न के साथ दुर्गा पूजा के त्योहार को मनाते हैं। इस दुर्गा पूजा के त्यौहार में बड़े छोटे बच्चे को उपहार देते हैं। दुर्गा पूजा के त्यौहार के दौरान सभी लोग घर को बहुत अच्छे तरीके से सजाते हैं।

निबंध 2 (300 Words)

हमारे भारत में जैसे दीपावली के उत्सव को जश्न के साथ मनाया जाता है ठीक उसी तरह से दुर्गा पूजा को भी बहुत धूमधाम से मनाया जाता है दुर्गा पूजा भी हमारे हिंदू धर्म का एक मुख्य उत्सव है जिसमें सिर्फ हिंदू धर्म के लोग ही नहीं बल्कि अभी के समय में और भी अन्य धर्म के लोग भी शामिल होते हैं। दुर्गा पूजा उत्सव में छोटे बच्चे से लेकर बड़े सभी नया कपड़े पहनते हैं और इस दिन को खास बनाने के लिए सभी लोग अपने घर में अलग-अलग तरह के स्वादिष्ट पकवान और मिठाई बनाते हैं।

दुर्गा पूजा का उत्सव दुर्गा देवी के वजह से मनाया जाता है क्योंकि दुर्गा देवी ने लगातार 9 दिन तक युद्ध करने के बाद राक्षस महिषासुर का वध किया था और इस बुराई के ऊपर जीत के खुशी के कारण ही दुर्गा पूजा को मनाया जाता है हिंदू धर्म के अनुसार दुर्गा पूजा को लगातार 9 दिन तक मनाया जाता है। दुर्गा पूजा के दिन दुर्गा प्रतिमा को बहुत अच्छे तरीके से मनाया जाता है इस दिन सभी लोग एक साथ मिलकर दुर्गा पूजा के पंदेल में घूमने जाते हैं।


दुर्गा पूजा में सभी लोग दुर्गा मां को लगातार 9 दिन तक पूजा करते हैं इस दिन दुर्गा मां को बहुत ही अच्छे तरीके से सजाया जाता है। दुर्गा पूजा के पूजा में थाली पर प्रसाद जल सिंदूर और फल को रखा जाता है।दुर्गा पूजा के दिन मंदिर और बाहर को रंगीन लाइट से सजाया जाता है इस वजह से बाहर देखने में बहुत ही सुंदर लगता है।

दुर्गा पूजा के उत्सव पर छोटे बच्चे से लेकर बड़े सभी लोग अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ नया कपड़े पहनकर बाहर दुर्गा प्रतिमा का दर्शन करके और अच्छा खाना पीना करके इस उत्सव को मनाते हैं।दुर्गा पूजा के उत्सव में हमें लगभग सभी जगह पर खाने का दुकान देखने को मिल जाते हैं सिर्फ खाने का दुकान ही नहीं बल्कि बहुत सारे नया-नया मिठाई का दुकान भी हमें दुर्गा पूजा के इस उत्सव में देखने को मिलता है।

निबंध 3 (400 Words)

भूमिका:-

दुनिया में सबसे ज्यादा त्योहार भारतवर्ष में मनाया जाता है। भारत में जैसे दीपावली के उत्सव को मनाया जाता है ठीक उसी तरह से दुर्गा पूजा (Durga Puja Utsav) के उत्सव को भी बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। भारत में सिर्फ हिंदू धर्म के लोग ही नहीं बल्कि और भी कई तरह के धर्म के लोग रहते हैं इस वजह से भारत वर्ष में प्रति महीना त्यौहार पर त्योहार मनाया जाता है।

सभी लोग दीपावली के उत्सव में जैसे धूमधाम से मनाते हैं ठीक उसी तरह से दुर्गा पूजा के उत्सव को भी बड़े ही जश्न के साथ मनाया जाता है। दुर्गा पूजा के उत्सव को पूर्व भारत के लोग ज्यादातर मनाते हैं और यह उत्सव सिर्फ हमारे भारतवर्ष में ही नहीं बल्कि देश के और भी कई अन्य जगह पर भी मनाया जाता है। दुर्गा पूजा का उत्सव 10 दिन तक चलता है जिसमें कि छोटे बच्चे से लेकर बड़े बुजुर्ग सभी बहुत आनंद करते हैं।

ज्यादातर दुर्गा पूजा kolkata में बहुत बड़े तरीके से मनाया जाता है सिर्फ कोलकाता में ही नहीं बल्कि और भी कई और अलग अलग जगह पर भी बहुत बड़े और धूम धाम से दुर्गा पूजा के उत्सव को मनाया जाता है इस त्यौहार में सभी लोग दुर्गा मां का पूजा करने के लिए मंदिर में जाते हैं या फिर कोई लोग अपने घर में ही दुर्गा माता का पूजा को संपूर्ण करते हैं।

दुर्गा पूजा उत्सव:-

दुर्गा पूजा का उत्सव हमारे देश में बहुत धूमधाम से मनाया जाता है इस दिन छोटे बच्चे से लेकर बड़े सभी लोग अच्छे कपड़े पहनकर बाहर मंदिर में घूमने जाते हैं। यह उत्सव बुराई के ऊपर अच्छे के जीत के लिए मनाया जाता है क्योंकि दुर्गा पूजा के दिन ही देवी दुर्गा ने राक्षस महिषासुर को वध किया था। देवी दुर्गा ने शिव और विष्णु के कहने पर महिषासुर का वध किया था।


दुर्गा पूजा का उत्सव लगातार 10 दिन तक मनाया जाता है और यही एक कारण है जो दुर्गा पूजा को किसी और अन्य पूजा से अलग करता है।लगभग सभी के घर में दुर्गा पूजा के त्यौहार के वक्त अलग-अलग तरह के पकवान और स्वादिष्ट मिठाई बनते हैं। सभी लोग इस दिन अपने परिवार और रिश्तेदारों के साथ बाहर त्योहार को मनाने जाते हैं या फिर कोई लोग अपने घर में रहकर ही इस त्यौहार का आनंद उठाता है। दुर्गा पूजा उत्सव के वक्त स्कूल छुट्टी रहता है इसी वजह से बच्चे भी इस उत्सव का आनंद बहुत ज्यादा ही लेते हैं।

निष्कर्ष:-

दुर्गा माता ने लगातार 9 दिन तक युद्ध करने के बाद महिषासुर को बंद किया था और अभी के इस वर्तमान समय में दुर्गा पूजा को इसलिए मनाया जाता है ताकि दुनिया में कोई भी खराब काम ना हो और सभी लोग अच्छे से मिलजुल कर रहे। दुर्गा पूजा को खास बनाने के लिए सभी लोग नया कपड़े पहनते हैं और घर में अलग-अलग तरह के पकवान बनाकर उसका आनंद लेते हैं।

निबंध 4 (500 Words)

भूमिका:-

हिंदू धर्म में दिवाली जैसे एक मुख्य उत्सव है ठीक उसी तरह से दुर्गा पूजा भी एक मुख्य उत्सव है। दुर्गा पूजा का उत्सव बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। ज्यादातर पूर्व भारत के सभी लोग इस उत्सव को मनाते हैं।साल के शुरुआत से ही छोटे बच्चे से लेकर बड़े बुजुर्ग सभी दुर्गा पूजा के लिए प्रतीक्षा करते हैं क्योंकि इस पूजा में सभी लोग बहुत आनंद करते हैं क्योंकि यह पूजा लगातार 10 दिन तक होता है। दुर्गा माता ने जब 9 दिन तक युद्ध करने के बाद राक्षस महिषासुर का वध किया था तभी से दुनिया का शांति के लिए दुर्गा पूजा मनाया जाता है।

देवी दुर्गा पूजा:-

दुर्गा पूजा इसीलिए मनाया जाता है क्योंकि ठीक दुर्गा पूजा के दिन ही देवी दुर्गा ने लगातार 10 दिन तक युद्ध करने के बाद ही राक्षस महिषासुर को हत्या किया था और दुनिया पर बुराई के ऊपर जीत होने के कारण इस दुर्गा पूजा उत्सव को मनाया जाता है ताकि हमारे विश्व में कोई भी बुरा काम नहीं हो और सभी लोग शांति के साथ रहे। देवी दुर्गा का 10 हाथ है और  इन्हीं 10 हाथ से ही देवी दुर्गा ने महिषासुर का वध किया है।

दुर्गा पूजा का उत्सव:-

दुर्गा पूजा 9 दिन तक किया जाता है। दुर्गा पूजा के समय देवी दुर्गा के मूर्ति को अच्छे कपडे और गहने से सजाया जाता है और दुर्गा पूजा के समय वक्त दुर्गा पूजा के पहले दिन और दुर्गा  पूजा के आखरी दिन उपवास रखते हैं।दुर्गा पूजा मैं देवी दुर्गा को थाली में प्रसाद सिंदूर फल अर्पित किया जाता है। दुर्गा पूजा के समय बहुत जगह पर पेंडल बनाया जाता है दुर्गा प्रतिमा का और इस दुर्गा पूजा के समय में रोड को भी अच्छे तरीके से सजाया जाता है इसी वजह से दुर्गा पूजा और भी खास बन जाता है।

छोटे बच्चे से लेकर बड़े सभी लोग दुर्गा पूजा के समय में अपने दोस्तों रिश्तेदारों के साथ बाहर घूमते हैं और इस समय बाहर हम लोगों को पेंडल के सामने बहुत सारे खाने का और अलग अलग तरह का दुकान भी देखने को मिलता है। कहीं कहीं जगह पर दुर्गा पूजा के समय मेला भी लगता है। दुर्गा पूजा के समय सभी लोग नया कपड़े पहन कर घूमने जाते हैं और लगभग सभी के घर में दुर्गा पूजा के समय अलग-अलग प्रकार का खाना और मिठाई बनता है। दुर्गा पूजा के उत्सव में सबसे ज्यादा हंसी मजाक तो छोटे बच्चे ही करते हैं क्योंकि इन त्यौहार में उन्हें बड़ों के तरफ से बहुत सारे का उत्साह देखने को मिलते हैं।

निष्कर्ष:-

दुर्गा पूजा हिंदू धर्म का एक बहुत ही बड़ा पूजा है जिसमें सिर्फ हिंदू धर्म के लोग ही नहीं बल्कि और भी धर्म के लोग एक साथ मिलकर आनंद के साथ इस उत्सव का मजा लेते हैं। देवी दुर्गा मां का पूजा लगातार 9 दिन तक होता है और ज्यादातर लोग इन दिन शाकाहारी भोजन करते हैं। Durga Puja मैं मंदिर को बहुत ही अच्छे तरीके से सजाया जाता है।

दोस्तों क्या आपने हमारे आज के इस आर्टिकल को पूरा पढ़ा है यदि हां तब हम hope करते हैं कि आप सभी लोगों को हमारा आज का informative आर्टिकल (दुर्गा पूजा पर निबंध – Essay On Durga Puja In Hindi) जरूर पसंद आया होगा आज के इस आर्टिकल को पड़ने के बाद आप सभी बिल्कुल ही आसानी से दुर्गा पूजा के ऊपर निबंध लिख पाएंगे।

उम्मीद है की आपको दुर्गा पूजा पर निबंध – Essay On Durga Puja In Hindi! का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।


आपको यह पोस्ट कैसा लगा नीचे कॉमेंट करके ज़रूर बताए, और अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसको अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here