नरेंद्र मोदी पर निबंध – Essay On Narendra Modi In Hindi


नरेंद्र मोदी पर निबंध – Essay On Narendra Modi In Hindi! एक व्यक्तित्व के रूप में नरेंद्र मोदी जी लाखों भारतीयों की प्रेरणा के स्त्रोत रहे हैं। साथ ही इनके विचारधाराओं और मान्यताओं का पालन बहुत से लोग करते हैं। नरेंद्र मोदी जी न केवल भारत में अपितु अमेरिका और रूस जैसे पश्चिमी देशों में भी बहुत अधिक लोकप्रिय हैं। दोस्तों आजके इस पोस्ट में हम प्रधानमंत्री के बारे में, प्रधानमंत्री पर निबंध हिंदी में जानिंगे। 

नरेंद्र मोदी जी के प्रयासों का नतीजा है कि आज भारत पूरी दुनिया के सबसे शक्तिशाली और अग्रणी देशों की श्रेणी में आ चुका है। नरेंद्र मोदी की आशावादी प्रकृति और चुनौती पूर्ण क्षमताओं ने हमारे देश को विकास के मार्ग में अग्रसर किया हैं। इसके अलावा भीड़ को मोड़ने और अपने विचारों को जनता के सामने व्यक्त करने के तरीके ने उन्हें हमारे देश का एक उल्लेखनीय राजनीतिज्ञ बना दिया है‌।

मुझे आशा है कि यहां प्रकाशित निबंध आपको अपनी परीक्षा में अच्छे मार्क्स लाने में आप की मदद करेंगे, साथ ही अगर आप किसी खास अवसर पर इस निबंध को सुनाते हैं तब भी यह निबंध आपको प्रशंसा के योग्य बनाएंगे। नरेंद्र मोदी जी को केवल हमारे देश के लोग ही प्रसंशा के योग्य नहीं समझते बल्कि अन्य देश भी नरेंद्र मोदी जी की तारीफ किए बिना रह नहीं सकते!


ऐसा इसलिए क्योंकि नरेंद्र मोदी जी ने विश्व के विभिन्न देशों में जहां जहां भी यात्राएं की हैं, हर जगह हमारे देश की संस्कृति का छाप छोड़ी हैं। इतना ही नहीं, नरेंद्र मोदी जी ने अन्य देशों के साथ भारत के वित्तीय और मैत्रीपूर्ण संबंधों को बनाने में भी अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है। तो चलिए देखते हैं नरेंद्र मोदी पर निबंध – Essay On Narendra Modi In Hindi!

नरेंद्र मोदी पर निबंध – Essay On Narendra Modi In Hindi

नरेंद्र मोदी पर निबंध - Essay On Narendra Modi In Hindi

नरेंद्र मोदी पर निबंध 1

नरेंद्र मोदी जी उच्च व्यक्तित्व वाले व्यक्ति हैं, जिनमें प्रशासनिक सूझ बूझ के अलावा स्पष्ट दूरदर्शिता और तीव्र निर्णय लेने के गुण भी मौजुद हैं। नरेंद्र मोदी जी की इन्हीं कुशलताओं के कारण इन्हें चुनाव जीतने में बहुत सहयोग मिला।

नरेंद्र मोदी जी में नेतृत्व करने की एक अपार क्षमता है जिसके कारण वे जनता को अपनी ओर आकर्षित करते हैं, नरेंद्र मोदी जी का व्यक्तित्व एक कठोर प्रशासक और कड़े अनुशासन मानने वाले व्यक्ति से मिलकर बना है। नरेंद्र मोदी जी के चरित्र में यथार्थवादी गुण दिखाई देते हैं लेकिन यथार्थवादी होने के साथ वे आशावादी भी हैं।

नरेंद्र मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950‌ में हुआ था. इनका जन्मस्थान वडनगर के मेहसाणा जिला के बॉम्बे राज्य में हैं। जिसे वर्तमान में गुजरात के नाम से जाना जाता है, आपकी जानकारी के लिए बता दें नरेंद्र मोदी जी का पूरा नाम नरेंद्र दामोदरदास मोदी हैं।

नरेन्द्र मोदी जी के पिता का नाम मूलचंद मोदी था और माता का नाम हीरा बेन है, नरेंद्र मोदी जी हमेशा से ही एक मध्यम वर्गीय परिवार से तालुक रखते थे। नरेंद्र मोदी अपने माता-पिता की 6 संतानों में से तीसरी संतान थे नरेंद्र मोदी जी को बचपन से ही अपने परिवार के भरण पोषण  के लिए पिता जी के कामों में हाथ बताना पड़ता था।

भारत-पाकिस्तान के बीच हुए द्वितीय विश्व युद्ध के समय नरेंद्र मोदी जी अपनी किशोरावस्था में थे। जब उनकी उम्र मात्र 13 साल की थी तब उनकी सगाई जसोदा बेन के साथ कर दी गई। जिनका पूरा नाम जसोदा बेन चमन लाल हैं। 17 साल की उम्र में नरेंद्र मोदी जी की शादी जसोदा बेन के साथ कर दी गई।

अपनी किशोरावस्था में नरेंद्र मोदी जी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में शामिल हो गए और पूरी निष्ठा के साथ कार्य कर इस संघ को आगे बढ़ाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। नरेंद्र मोदी जी ने कम उम्र से ही कड़ी मेहनत शुरू कर दी थी, इन सभी कामों के अलावा नरेंद्र मोदी जी ने एक सच्चे हिंदू के रूप में लोगों का प्रतिनिधित्व किया है, जिसके कारण आज वे कई हिंदुओं के लिए एक आदर्श बन चुके हैं।

नरेंद्र मोदी बी.जे.पी. (भारतीय जनता पार्टी)  में वर्ष 1987 में जॉइन हुए थे. यही वो समय था, जहां से उनके करियर की शुरूआत राजनीती की दुनिया में हुई।

ज्वॉइन होने के एक साल के बाद ही उनकी काबिलियत के वजह से उनकी नियुक्ति गुजरात के महासचिव के रूप में हुई, महासचिव के पद पर नियुक्ति होने के बाद नरेंद्र मोदी जी ने अपनी कड़ी मेहनत और लगन से बी. जे. पी.पार्टी को एक ऊंचे मुकाम तक पहुंचाया।


नरेंद्र मोदी जी के कठिन प्रयासों के कारण बी.जे.पी. (भारतीय जनता पार्टी) को बड़ी पहचान मिली। इस तरह नरेंद्र मोदी जी अपने कौशल के बल पर भारत के प्रधान मंत्री पद में विराजमान हुए और अब तक देश के प्रधानमंत्री पद को संभाल रहे हैं।

नरेन्द्र मोदी पर निबंध 2

प्रस्तावना

देश के 15वें प्रधानमंत्री के तौर पर वर्ष 2014 में भारी अंतर से चुनाव में जीत हासिल कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अब तक के कार्यकाल में अपने कुशल एवम् प्रभावशाली व्यक्तित्व की बदौलत पूरे विश्व  में भारत की विशिष्ट पहचान बनाई है।

परिणाम स्वरूप वर्ष 2019 के चुनाव में भी प्रधानमंत्री मोदी को दोबारा से प्रधानमंत्री पद पर बैठने का गौरव हासिल हुआ। प्रधानमंत्री को राष्ट्रपति का मुख्य सलाहकार भी माना जाता है।

भारत वर्ष में संसदीय शासन प्रणाली का नेतृत्व प्रधानमंत्री द्वारा किया जाता हैं, प्रधानमंत्री सरकार का केंद्र बिंदु होते हैं जो देश के सभी मामलों पर निर्णय लेते हैं। नरेंद्र मोदी जी प्रधानमंत्री के पद में बैठने वाले पहले ऐसे व्यक्ति हैं जिनका जन्म स्वतंत्र भारत में हुआ था।

नरेंद्र दामोदरदास मोदी जी का जन्म 17 सितंबर 1950 को वडनगर गुजरात में हुआ था. मोदी जी के माता का नाम हीराबेन मोदी और उनके पिता का नाम दामोदरदास मूलचंद मोदी हैं.।

नरेंद्र मोदी जी अपने परिवार में जन्मे तीसरी संतान हैं, नरेंद्र मोदी जी ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा गुजरात के वडनगर में पूरी की थी. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में काम करते हुए उन्होंने गुजरात विश्वविद्यालय से पॉलिटिकल साइंस (राजनीति विज्ञान) के उपर MSC (Master in science) की डिग्री प्राप्त की हैं।

विवाह

नरेंद्र मोदी जी जब मात्र 17 वर्ष के थे तब उनका विवाह जशोदाबेन चमनलाल से हुआ , पर यह रिश्ता लंबे समय तक न टिक सका, शादी के कुछ ही सालों बाद मोदी जी ने अपना घर बार छोड़ दिया. इस तरह नरेंद्र मोदी जी का वैवाहिक जीवन शुरू होने से पहले ही समाप्त हो गया.

जशोदाबेन से विवाह के बाद नरेंद्र मोदी जी ने दोबारा विवाह नहीं किया।

राजनीतिक कार्य

नरेंद्र मोदी जी ने भारतीय जनता पार्टी को मजबूत बनाने में अपना बहुत बड़ा योगदान दिया है। उन्होने राम कृष्ण आडवाणी जी के सोमनाथ से अयोध्या तक की रथ यात्रा व श्री मुरली मनोहर जोशी जी की कन्याकुमारी से कश्मीर तक की यात्रा में  महत्वपूर्ण किरदार निभाया।

भारतीय जनता पार्टी के अलग-अलग पदों पर रहकर मोदी जी ने इस पार्टी को काफी ऊंचाइयों तक पहुंचाया। जिस वजह से आज BJP देश की सबसे प्रमुख राजनीतिक पार्टी बनकर उभरी है।

प्रधानमंत्री के रूप में नरेंद्र मोदी जी द्वारा किए गए कार्य 

जनसेवा के प्रति नरेंद्र मोदी के लगाव के कारण वर्ष 2001 में जनता ने मोदी जी को गुजरात प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया गया.। मुख्यमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी जी ने गुजरात की कायापलट कर, गुजरात के विकास कार्यों में जुट गए।

जिससे उन्हें विकास पुरुष की संज्ञा दी गई

2014 में हुए लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी जी ने भारतीय जनता पार्टी के प्रमुख के तौर पर चुनाव लडा, जिसमें उन्होंने 282 सीटें जीतकर सफलता प्राप्त की.

एक कुशल प्रधानमंत्री के रुप में श्री नरेंद्र मोदी जी हमेशा अत्यंत सक्रिय रहते हैं, और देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के प्रयास में जुटे रहते थे। महात्मा गांधी जी द्वारा देखे गये स्वच्छ भारत अभियान के सपने को भी मोदी जी ने आगे बढ़ाने का कार्य किया।. भ्रष्टाचार को जड़ से खत्म करने के लिए उन्होंने काला धन के खिलाफ 8 नवंबर 2016 से 500 और 1000 के पुराने नोटों को बंद कर दिया।

मोदी जी की “मेक इन इंडिया नीति” ने देश में उद्योगों को भी काफी बढ़ावा दिया. साथ ही देश के प्रत्येक नागरिक का बैंक अकाउंट खोलने का जिम्मा अपने सर पर लेकर इस दिशा में भी बड़ा परिवर्तन लाने में वे कामयाब रहे।


अपनी दूरदर्शिता का प्रमाण देते हुए नरेंद्र मोदी भारत को भी दूसरे देशों की तरह डिजिटल बनाने का प्रयास कर रहे हैं इस काम को बढ़ावा देने के लिए उन्होंने डिजिटल इंडिया प्रोग्राम लागू किया.

विकास की सोच के साथ कार्य करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अप्रैल 2016 में सऊदी अरब के सबसे उच्चतम सम्मान ‘अब्दुल अजीज अल सऊद के आदेश’ से सम्मानित किया गया।

साथ ही साथ जून 2016 में उन्हें अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी के द्वारा अफगानिस्तान के सबसे उच्चतम सम्मान से भी सम्मानित किया गया।

Essay On Narendra Modi In Hindi (3)

हमारे भारतवर्ष के 14 वें प्रधान मंत्री, नरेंद्र दामोदरदास मोदी‌ जी का जन्म गुजरात राज्य के वडनगर गांव के एक निम्न-मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ था।

नरेंद्र मोदी जी को बचपन से ही राजनीति में गहरी व खास दिलचस्पी रही है, मोदी जी ने अपनी उच्च शिक्षा अपने गृहनगर यानि वडनगर में पूरी की. जब उनकी उम्र मात्र 8 साल थी तब उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में शामिल होने का निर्णय लिया जिसे अधिकतर लोग RSS के रूप में जानते हैं।

इतनी सी उम्र में ही नरेंद्र मोदी जी यह समझ चुके थे कि वे ‌अपना जीवन मातृभूमि कि सेवा में न्योछावर करना चाहते हैं। 17 साल की उम्र में उनकी शादी कर दी गई लेकिन घर गृहस्थी से उनका मोह भंग हो चुका था

इसलिए मोदी जी घर बार छोड़ने का मन बना चुके थे, जिसके कारण उन्होंने अपना घर छोड़ दिया और ज्ञान प्राप्त करने व लोगों की मदद करने के उद्देश्य से देश भर में यात्रा करने लगे। नरेंद्र मोदी जी, स्वामी विवेकानंद की विचारधारा को मानने वाले महान अनुयायी थे. घर त्याग करने के बाद जब देश भर में यात्राएं कर रहे थे तब उस यात्रा के दौरान‌ वे स्वामी विवेकानंद द्वारा स्थापित किए गए कई आश्रमों में रहे।

बहुत कम लोगों को इस बात की जानकारी है कि नरेंद्र मोदी जी का जीवन अत्यंत संघर्ष और कठिनाई से भरा था। यह नरेंद्र मोदी जी की दृढ़ इच्छाशक्ति और कड़ी मेहनत का कमाल है कि वे  2001 में गुजरात के मुख्यमंत्री के पद में विराजमान हुए. लेकिन आलोचकों द्वारा नरेंद्र मोदी के  जीवन को तानाशाही करार दिया।

लेकिन नरेंद्र मोदी जी ने खुद एक चाय वाले के रूप में काम किया है. हमारे देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी जी ने सभी कठिनाइयों के बावजूद अपनी खुशी और आराम से पहले हमारे राष्ट्र को रखा है। मोदी जी हमारे देश के पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिन्हें न केवल हमारे देश में सराहा जाता हैं अपितु दुनिया के अलग-अलग देश नरेंद्र मोदी जी की तारीफ किए बिना रह नहीं पाते हैं।

मोदी जी को केवल हमारे देश में ही नहीं बल्कि अलग-अलग देशों द्वारा अनेक प्रकार के सम्मानों से सम्मानित किया गया है. मोदी जी को कई बार टाइम्स पत्रिका द्वारा साल 2014, 2015 और 2017 में दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों में स्थान दिया गया, जो कि हर किसी के लिए बेहद एक सम्मान की बात हैं।

उप संहार

इस निबंध को खत्म करते हुए मैं इतना बोलना चाहूंगा/चाहूंगी कि प्रधानमंत्री के रूप में हमें एक अत्यंत योग्य, कुशल व प्रभावशाली व्यक्ति नरेंद्र मोदी जी मिले हैं जिनके नेतृत्व में आज हमारे देश ने काफी विकास कर लिया है और आगे भी विकास के मार्ग पर अग्रसर हैं.

अतः ऐसा लगता है जैसे नरेंद्र मोदी जी का सपना अच्छे दिन आएंगे की शुरुआत हो चुकी है।।

Conclusion

तो साथियों इस तरह आज का यह लेख यही समाप्त होता है, हमें आशा है प्रधानमंत्री पर निबंध पढ़कर आपको प्रधानमंत्री के जीवन और उनके कार्यकाल से जुड़ी कई महत्वपूर्ण जानकारियां इस आर्टिकल में हासिल हुई होंगी।

तो दोस्तों आजके इस पोस्ट में हमने नरेंद्र मोदी पर निबंध (Essay On Narendra Modi In Hindi) अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें, ताकि उन्हें भी प्रधानमंत्री मोदी पर निबंध तैयार करने में आसानी हो।

उम्मीद है की आपको नरेंद्र मोदी पर निबंध – Essay On Narendra Modi In Hindi! का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।


आपको यह पोस्ट कैसा लगा नीचे कॉमेंट करके ज़रूर बताए, और अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसको अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here