Raksha Bandhan Slogan in Hindi [105+ रक्षाबंधन के नारे]

Raksha Bandhan Slogan in Hindi [105+ रक्षाबंधन के नारे] भारत में रक्षा बंधन सावन महीने की पूर्णिमा को मनाया जाने वाला एक राष्ट्रीय पर्व है इस दिन राष्ट्र में बहनें अपने भाई के दाहिने हाथ में राखी बांधती है, और भाई अपनी बहन की रक्षा करने का वचन देते हैं। वचन के साथ हर भाई अपनी बहन को तोहफा भी देता है, जिसका  उद्देश्य अपनी बहन को खुश रखना होता है।

रक्षाबंधन भाई बहन के बीच एक दूसरे के प्रति स्नेह बढ़ाने के लिए होता है। इस दिन बहन अपने भाई को टीका चंदन लगाकर उसके हाथ में एक पवित्र डोरी बाधती है, जो डोरी हमेशा भाई को अपनी बहन की रक्षा के लिए प्रेरित करती है इस डोरी का मतलब सिर्फ रक्षा करना ही नहीं बल्कि बहन के प्रति सभी जिम्मेदारियों को पूरा करना भी है।

आया राखी का त्यौहार, छाई खुशियों की बहार।

एक रेशम की डोरी से बाँधा, एक बहन ने अपने भाई की कलाई पर प्यार| || आपको रक्षाबंधन की शुभकामनाएँ ||

साथ पले और साथ बड़े हुए, खूब मिला बचपन में प्यार, भाई-बहन का प्यार बढ़ाने, आया राखी का त्यौहार|

रक्षाबंधन त्यौहार हिंदू व जैन धर्म में प्रमुख है। राखी के त्योहारों में कच्ची सूतों का उपयोग किया जाता है, इन सूतो में विभिन्न प्रकार के रंगों का इस्तेमाल करके इसे रंगीन मनाया जाता है, इसका इस्तेमाल हर बहन अपने भाई के हाथों में बांधने के लिए करतें हैं। तो चलिए Raksha Bandhan Slogan in Hindi [रक्षाबंधन स्लोगन] के बारे में जानते है।

Raksha Bandhan Slogan in Hindi [105+ रक्षाबंधन के नारे]

Raksha Bandhan Slogan in Hindi [30+ रक्षाबंधन पर स्लोगन]

एक राखी का त्यौहार ही ऐसा है जिसके कारण भाई-बहन को एक दूसरे से मिलने का मौका मिलता है वरना इस दुनिया में कभी किसी को अपने भाई बहनों की परवाह नहीं रहती भले ही उनके मन में एक दूसरे के प्रति प्रेम स्नेह हो फिर भी लोग एक दूसरे से ज्यादा मिल नहीं पाते। 

रक्षाबंधन त्यौहार के दिन प्रत्येक भाई बहन इस त्यौहार को मनाने के लिए प्रत्येक हालातों में मिलते हैं। इस दिन हर बहन अपने भाई की तरक्की के लिए दुआ करती हैं। रक्षाबंधन त्यौहार एक भाई और बहन के बीच प्रेम की संवेदना को बढ़ाने के लिए होता है परंतु देश के कुछ क्षेत्रों में इस त्यौहार को छोटी बच्चियां बुजुर्गों को राखी बाधकर भी बनाती हैं।

रक्षाबंधन के दिन बाजारों में हर दुकान सजी-धजी रहती है दुकानों में विभिन्न प्रकार की राखियाँ देखने को मिलती हैं जिनमें से प्रत्येक बहन अपने भाई के लिए सबसे अच्छी राखियों को खरीदना चाहते हैं इस दिन बाजारों -गलियों तथा रास्तों में सुबह से शाम तक भीड़ बनी रहती है क्योंकि इस दिन सभी लोग अपने रिश्तेदारों के घर आना-जाना करते हैं जिस कारण बाजार में अत्यधिक चहल पहल बनी रहती है। हमने Raksha Bandhan Slogan in Hindi पर जो स्लोगन लिखा है, वह स्लोगन है – 

सावन की रिमझिम फुहार है, रक्षाबंधन का त्यौहार है, भाई बहन की मीठी सी तकरार है,

ऐसा यह प्यार और खुशियों का त्यौहार है! रक्षाबंधन की ढेर सारी शुभकामनाएँ..

सावन की रिमझिम फुहार है, रक्षाबंधन का त्यौहार है, भाई बहन की मीठी सी तकरार है,

ऐसा यह प्यार और खुशियों का त्यौहार है! रक्षाबंधन की ढेर सारी शुभकामनाएँ..

सुख की छाँव हो या गम की तपिश, मीठी-सी तान हो या तीखी धुन. उजियारा हो या अंधकार, किनारा हो या बीच धार. महफिल हो या तन्हाई…….. हर हाल में तुम्हारे साथ है तुम्हारा भाई.

मानो सावन बदरी से अमृत बरसा रही है फूलों से डालियाँ लहलहा रही है रक्षाबंधन अपने संग ढेरों खुशियाँ ला रही है रक्षाबंधन की ढेर सारी शुभकामनाएँ

सुख की छाँव हो या गम की तपिश, मीठी-सी तान हो या तीखी धुन. उजियारा हो या अंधकार, किनारा हो या बीच धार. महफिल हो या तन्हाई…….. हर हाल में तुम्हारे साथ है तुम्हारा भाई.

रोली का तिलक, मधु की मिठास अक्षत और रक्षा सूत्र लिए साथ हृदय से अर्पित करती हूँ आपको राखी की मंगल कामनाएँ

भाई-बहन का अनूठा रिश्ता है ये जिसमें, अनुज हो या अग्रज… बड़ा हो या छोटा हर भाई-बहन इस अद्वितीय, अटूट, अहम रिश्ते में प्यार से बंधा है. रक्षाबंधन की ढेर सारी शुभकामनाएँ

रोली, रक्षा, अक्षत का ये ये रक्षाबंधन खुशियों का हो हार्दिक संगम रक्षाबंधन की ढेर सारी शुभकामनाएँ

मानो सावन बदरी से अमृत बरसा रही है फूलों से डालियाँ लहलहा रही है रक्षाबंधन अपने संग ढेरों खुशियाँ ला रही है रक्षाबंधन की ढेर सारी शुभकामनाएँ

उसका हुसन गया कलेजा चीर, नयनों से छूटा एक तीर, वो मुस्कराई, नजदीक आई, और बोली “राखी बंधवाले मेरे वीर” || हैप्पी रक्षाबंधन मैरे भाई ||

हर लड़की को आपका इंतजार है, हर लड़की आपके लिए बेकरार है, हर लड़की को आपकी आरजू है, दोस्त! ये आपका कमाल नहीं, कुछ दिन बाद राखी का त्यौहार है|

याद है हमारा वो बचपन, वो लड़ना – झगड़ना और वो मना लेना, यही होता है भाई – बहन का प्यार, और इसी प्यार को बढ़ाने के लिए आ रहा है रक्षा बंधन का त्यौहार|…

आया राखी का त्यौहार, छाई खुशियों की बहार।

एक रेशम की डोरी से बाँधा, एक बहन ने अपने भाई की कलाई पर प्यार| || आपको रक्षाबंधन की शुभकामनाएँ ||

साथ पले और साथ बड़े हुए, खूब मिला बचपन में प्यार, भाई-बहन का प्यार बढ़ाने, आया राखी का त्यौहार|

राखी का त्यौहार था राखी बंधवाने को भाई भी तैयार था, भाई बोला बहना मेरी अब तो राखी बांध दो, बहना बोली “कलाई पीछे करो, पहले रूपये हजार दो”

दुनिया की नज़रो में भाई चाहे जैसा हो लेकिन बहन की नज़र में वो हीरो होता हैं | ”’हैप्पी रक्षाबंधन”’

चन्दन की डोरी फूलों का हार, आये सावन का महिना और राखी का त्यौहार, जिसमे है झलकता भाई-बहन का प्यार | ”’हैप्पी रक्षाबंधन”

बहन चाहे दूर भी हो तो भी कोई गम नहीं होता, उसका प्यार किसी दुआ से काम नहीं होता, अक्सर रिश्ते दूरियों से फीके पद जाते हैं,पर बहन – भाई का प्यार कभी काम नहीं होता | ””हैप्पी रक्षाबंधन “

याद है हमारा वो बचपन, वो लड़ना – झगड़ना और वो मना लेना,यही होता है भाई – बहन का प्यार, और इसी प्यार को बढ़ाने के लिए आ रहा है रक्षा बंधन का त्यौहार।

रक्षाबंधन की शुरुआत

जब माता लक्ष्मी,त्रिभुवन जी को अपना द्वारपाल बनाने के लिए उनके हाथों में राखी बांधती हैं तो हितैषी व्यक्ति के सामने कृतज्ञता का भाव उत्पन्न करते हुए राजा बलि द्वारा पूछा गया ” तुम क्या चाहती हो ” लक्ष्मी जी द्वारा जवाब दिया गया ” वे जो नन्हे से बालक तुम्हारे द्वारपाल हैं, उन्हें आप छोड़ दो ” इस प्रकार भगवान नारायण को द्वारपाल से मुक्ति दिलाने के लिए लक्ष्मी जी ने रक्षाबंधन महोत्सव का प्रारम्भ किया।

भले ही रक्षाबंधन का धागा छोटा सा हो परंतु बांधने वाले का विश्वास और सहयोग बड़ा होता है। इसके अलावा जब माता कुंती ने अभिमन्यु को राखी बांधी। तो जब अभिमन्यु युद्ध करने गए उन्होंने तब तक युद्ध में खुद को संभाला जब तक उनके कलाई में राखी बंधी थी। परंतु जब उनके कलाई से राखी टूटी तो अभिमन्यु की मृत्यु हुई इसके पीछे भी उनके हाथ में बांधी गई राखी का महत्वपूर्ण योगदान माना गया।

रक्षा बंधन का महत्व

रक्षाबंधन का महत्व सबसे अलग होता है इस दिन से ज्यादा,भाई बहन का प्यार आपको कहीं देखने को नहीं मिलता क्योंकि अन्य त्योहार भगवान, महापुरुषों के जन्मदिन को मनाने के लिए मनाए जाते हैं पर यह त्योहार दो भाई बहनों के बीच अच्छे संबंधों की निशानी के लिए बनाए जाते हैं।

रक्षाबंधन त्यौहार सभी व्यक्तियों के लिए सुखदायक रहता है। इसीलिए इस त्यौहार को नारियल पूर्णिमा भी कहा जाता है। इस दिन समुद्र तटीय इलाकों में इंद्र देवता तथा वरुण देवता की पूजा की जाती है और देवताओं को नारियल अर्पित किए जाते हैं।

इस दिन लोगों द्वारा समुद्र में नारियल फेंके जाते हैं इसी दिन भगवान राम ने सीता मैया को लंका से लाने के लिए सेतु के निर्माण का प्रारंभ किया था। उनका मानना होता है कि नारियल के ऊपर जो तीन छेद होते हैं उनमें शिव जी का रूप होता है। और प्रत्येक मछुआरा भी इसी दिन से मछलियों का काम फिर से प्रारंभ करता है इस दिन से समुद्र में पानी का बहाव शांत रहता है ।

रक्षाबंधन कैसे मनाया जाता है

एक कटु सच्चाई है कि वर्तमान समय में रक्षाबंधन के नाम पर भाई बहनों के बीच विभिन्न प्रकार के मतभेद रहते हैं इसका मुख्य कारण लेन देन से होता है क्योंकि आजकल लोग रक्षाबंधन रक्षा से ज्यादा पैसों के लिए इस्तेमाल करते हैं।

यदि हमें इस त्यौहार को वास्तव में परंपराओं के साथ मनाना है तो सबसे पहले अपने बुरे व्यवहार को समाप्त करने की जरूरत पड़ेगी हम इस त्यौहार को पुरानी परंपराओं के साथ मना सकते है।

आज प्रत्येक भाई बहन हर वर्ष इस त्यौहार को स्नेह से मनाते हैं। परंतु त्यौहार के बाद लोग एक दूसरे दूसरे के भाई बहनों की इज्जत नहीं करते इसीलिए हमें सबसे पहले अपने भाई बहनों को एक दूसरे के प्रति इज्जत सिकानी चाहिए।

इस त्योहार को मनाने के लिए हमें सबसे पहले समाज में रहने वाले तथा अपने भाई बहनों की इज्जत ,तथा सभी के साथ प्रेम पूर्ण व्यवहार जाहिर करना चाहिए। तब हम इस त्यौहार के महत्व को अपने जीवन में समझ पाएंगे तथा सफलता पूर्वक इस त्यौहार का आनंद ले सकेंगे।

रक्षाबंधन के इस पावन त्यौहार को व्यवसाय का जरिया बनाने से ज्यादा अच्छा प्रेम का जरिया बनाना ही सबसे महत्वपूर्ण कार्य होगा इसीलिए नए युवा वर्ग को क्षेत्र में इस ओर कदम बढ़ाने की आवश्यकता है कि वे लोग इस त्यौहार का शांतिपूर्वक तथा परंपरा को निभाते हुए मना सकें।

कई जगह पर पत्नी द्वारा अपने पति को भी राखी बांधी जाती है इसका उद्देश्य एक पति द्वारा अपनी पत्नी की रक्षा करना होता है इस प्रकार हमें समाज में भी प्रत्येक क्षेत्र में महिलाओं के प्रति रक्षा करने के वचन देने चाहिए।

उम्मीद है की आपको रक्षाबंधन पर स्लोगन | Raksha Bandhan Slogan in Hindi से जुड़ी सभी जानकारी मिल चुकी होगी।

यह पोस्ट कैसा लगा नीचे कॉमेंट करके ज़रूर बताए, और यदि आपको यह पोस्ट पसंद आया है, तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरूर Share करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here