Slogan on Women Empowerment in Hindi (महिला सशक्तिकरण पर नारे)


Slogan on Women Empowerment in Hindi (महिला सशक्तिकरण पर नारे) महिला सशक्तिकरण का मुख्य उद्देश्य उन महिलाओं को जागरूक और प्रोत्साहित करना है, जो अपने अधिकारों को प्राप्त नहीं कर पाती और ना ही उन्हें समाज में अपनी स्तिथि से उबरकर कुछ करने का मौका मिलता है।

महिला सशक्तिकरण के माध्यम से हर महिला में एक ऐसी शक्ति जागृत करना है, जिससे प्रत्येक क्षेत्र में रहने वाली महिलाएं अपने अधिकारों को आसानी से प्राप्त कर सकें तथा स्वतंत्रता पूर्वक अपना जीवन यापन करें। तो चलिए Slogan on Women Empowerment in Hindi (महिला सशक्तिकरण पर नारे) के बारे में अच्छे से जानते है।

हर क्षेत्र में नाम कमाये, अपने परिवार को सुखी बनाये।

बराबरी का साथ निभाएं, महिलएं अब आगे आएं।

महिलाओ की सशक्ति है, देश की उन्नति।

आज के समय में कई क्षेत्रों में महिलाओं के साथ बहुत ज्यादा अत्याचार होने के बाद भी उनकी आवाज को दबाया जाता है, तथा उनके साथ कुछ ऐसा दुर्व्यवहार किया जाता है जिसके कारण वे खुद के साथ होने वाले अत्याचारों को बताने में डर जाते हैं परंतु महिला सशक्तिकरण के बल पर प्रत्येक महिला शिक्षार्थ बनेगी, और खुद के ऊपर होने वाले अत्याचारों से आजादी जरूर पाएगी।


Slogan on Women Empowerment in Hindi (महिला सशक्तिकरण पर नारे)

Women Empowerment Slogan In Hindi [महिला सशक्तिकरण स्लोगन]

संक्षेप में कहें तो समाज में चल रहे महिलाओं के ऊपर होने वाले अत्याचार तथा उनके साथ किए जाने वाले दुर्व्यवहारों को समाप्त करना ही महिला सशक्तिकरण का मूल लक्ष्य है। Women Empowerment Slogan In Hindi पर हमने जो स्लोगन लिखा है, वह स्लोगन है – 

नही सहना है अत्याचार, महिला सशक्तिकरण का यही है मुख्य विचार।

महिलाओं ने यह ठाना है, शोषण के विरुद्ध आवाज उठाना है।

जब महिला में शक्ति होगी, तभी राष्ट्र की उन्नति होगी।

महिला सशक्त हो राष्ट्र में, बाकि सब इसके बाद में।

सशक्त होगी नारी शक्ति तो बनेगी राष्ट्र शक्ति।

जिसने हमें पाला है हमारा पोषण किया है, हमने सदा उसका शोषण किया है।

मर्द नहीं है वो जो महिला पर हाथ उठाये, जो नारी को सशक्त करे वही मर्द कहलाये।

महिलाओं को दो सम्मान, तभी प्रगति करेगा हिंदुस्तान।

भारत ने विश्व में इतिहास रच डाला है, जो पुरुषों नहीं किया वो महिलाओं ने कर डाला है।

नारी को शिक्षा और सम्मान, इससे होगा देश महान।

Women Empowerment Slogan In Hindi

सशक्त महिला होगी तो सशक्त परिवार होगा, अन्यथा चारो ओर सिर्फ हाहाकार होगा।


अगर महिलाओं का शोषण होगा तो राष्ट्र में कुपोषण होगा।

महिला सशक्तिकरण का नारा है, समाज को तरक्की के मार्ग पर लाना है।

स्त्री का दर्जा सबसे बड़ा, इसका त्याग है सबसे बड़ा।

कभी माँ तो कभी बहन बनकर दुलारती है, महिला ना जाने कितने जीवन संवारती है।

महिलाओं की शक्ति को कम मत समझो, इनकी शक्ति को वहम मत समझो।

कल्पना चावला बनकर वह अंतरिक्ष माप चुकी है, महिला आज के वक्त में हर बाधा पार कर चुकी है।

महिला है समाज का आईना, इसका जीवन पूरी करता सबकी कामना।

नारी है सर्वस्व विधाता, उससे ही सारा संसार जीवन पाता।

आओ मिलकर करे उन्हे नमन, जिन्होंने दिया मानवता को जीवन।

महिलाओं को सम्मान दिलाना है, महिला सशक्तिकरण के संदेश को सबतक पहुंचाना है।

महिला सशक्तिकरण के सपने को पूरा करना है, तरक्की के राह पर आगे बढ़ना है।

महिलाओ को बराबरी का स्थान प्रदान किए बिना भारत की तरक्की संभव नही है।

भारत में यदि नारी जाति को उचित सम्मान नही मिला तो देश की दुर्दशा निश्चित है।

नारी को दो उचित सम्मान, क्योंकि सारे देव है इसमे विद्यमान।

महिलाओं का ना करो निरादर, देश की तरक्की के लिए जरुरी है इनका आदर।

महिलाओं को अपना स्वाभिमान जगाना है, देश को तरक्की के ओर बढ़ाना है।

 नही सहना है अत्याचार, महिला सशक्तिकरण का यही है मुख्य विचार।

महिला है हर परिवार की शक्ति, तभी दुनिया इसकी ताकत को मानती।

मैं भी छू सकती हूं आकाश, मौके की है मुझे तलाश।

हर क्षेत्र में नाम कमाये, अपने परिवार को सुखी बनाये।

बराबरी का साथ निभाएं, महिलएं अब आगे आएं।

महिला सशक्तिकरण स्लोगन

महिलाओ की सशक्ति है, देश की उन्नति।

“जब हैं नारी में शक्ति सारी, तो फिर क्यों नारी को कहे बेचारी।

जो महिलायें पुरुषों के समकक्ष होना चाहती हैं उनमें महत्वाकांक्षा की कमी होती है।

नही सहना है अब किसी का अत्याचार, महिला सशक्तिकरण का यही है मुख्य विचार।

हर क्षेत्र में महिला आगे, बेटी बचाओ पढ़ाओ आगे।

महिलाओ को आगे लाओ, देश को आगे बढाओ।

देश का है अंतःकरण, सिर्फ और सिर्फ महिला सशक्तिकरण।

जब हैं नारी में शक्ति सारी, तो फिर क्यों नारी को कहे बेचारी।

महिलाओं को दे शिक्षा का उजियारा, पढ़-लिख कर करें रोशन जग सारा।

जब हैं नारी में शक्ति सारी, तो फिर क्यों नारी को कहे बेचारी।

बराबरी का साथ निभाएं, महिलएं अब आगे आएं।

सशक्त नारी से ही बनेगा सशक्त समाज।

कभी बहु कभी माँ बनकर सबके सुख-दुःख सहकर अपने सब फर्ज निभाती है तभी तो नारी कहलाती है।

जिमेदारी संग नारी भर रही है उड़ान, ना कोई शिकायत ना कोई थकान।

महिलाओं को दो इतना मान, की बड़े हमारे देश को शान।

नारी का करो सन्मान तभी बनेगा देश महान।

अबला नहीं है बिलकुल नारी, संघर्ष रहेगें हमारा जारी।

महिला सशक्तिकरण का उद्देश्य

महिला सशक्तिकरण के बहुत सारे उद्देश्य रहे हैं जिनमें से कुछ नीचे दिए गए।

महिलाओं का समाज में विकास – हमारे देश में प्रत्येक महिला समाज से जुड़ी है जिसके कारण वह समाज में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती हैं इसीलिए यदि हमें अपने देश को आर्थिक और सामाजिक रुप से मजबूत बनाना है तो सबसे पहले महिलाओं को मजबूती देनी होगी।

क्योंकि प्रत्येक घर की महिला सामाजिक और आर्थिक रूप से मजबूत होने पर, हमारे समाज का आसानी से विकास हो सकता है ,तथा महिलाएं एक शक्तिशाली देश का निर्माण भी कर सकती हैं।

इसीलिए एक सफल राष्ट्र में सबसे पहले महिलाओं का शक्तिशाली होना अत्यंत आवश्यक है और प्रत्येक समाज में महिलाओं को जागरूक बनाकर उनका सशक्तिकरण करना भी कहीं ज्यादा मायने रखता है।

घरेलू हिंसाओं में कमी करना – यदि हम महिलाओं का सशक्तिकरण करते हैं, तो इससे पहले घरेलू हिंसा में कमी आएगी प्रत्येक घरों में हिंसात्मक घटनाओं में कमी आने के कारण हमारा देश एक दिन अवश्य ही उन्नति कर पाएगा। 

इसीलिए प्रत्येक क्षेत्र में महिलाओं का सशक्तिकरण करना इस बात को भी सुनिश्चित करता है कि इससे घरेलू हिंसा में भी कमी देखने को मिलेगी तथा समाज की सब महिलाएं खुद के साथ होने वाली हिंसात्मक घटनाओं से जागरूक बनेंगे

वर्तमान समय में भी ऐसी बहुत सारी घटनाएं देखने व सुनने को मिलती हैं इसके कारण महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार करके उन्हें मौत के घाट उतार दिया जाता है।  इसीलिए महिलाओं का शिक्षित और जागरूक होना आवश्यकता से भी ज्यादा है।

घरेलू हिंसा के कारण ही महिलाएं खुद का विकास करने में कमजोर दिखती हैं, तथा घर के काम तक ही सीमित रहने को मजबूर हो जाती हैं। 

महिलाओं का आत्म निर्भर बनाना – समाज में आज भी लड़कियों को बचपन से ही घर के कामों के लिए अग्रसर किया जाता है तथा उनसे झूठी बातें बोलकर यह कहा जाता है कि उन्हें उम्र भर घर के काम तक सीमित रहना है इस कारण कई लड़कियां भविष्य में अन्य कामों को करने के विचार दिमाग में लाती ही नहीं।

जिससे उन्हें भी घर के कामों को करने की आदत सी हो जाती है इसके कारण उनका बाहरी कार्यों को करने में मन नही बनता । परंतु बचपन से ही लड़कियों को ऐसे विचार देना उनके भविष्य के लिए गलत साबित हो सकता है।

और वे भविष्य में आत्मनिर्भर बनने से कतरा जाती हैं इसके कारण संपूर्ण देश को विभिन्न प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसलिए देश के नागरिक होने के नाते हमारी सबसे पहली जिम्मेदारी यह रहती है,कि लड़कियों को आत्मनिर्भर बनने के लिए जागृत करना चाहिए जिसके कारण संपूर्ण समाज प्रगति कर सकें।

देश में गरीबी कम करना – महिला सशक्तिकरण का उद्देश्य सिर्फ महिलाओं को जागृत कर खुद के अधिकारों के लिए लड़ना ही नहीं बल्कि आत्म निर्भर बनने से खुद का जीवन सरल और सहज बनाना भी है। महिलाएं जब आत्मनिर्भर बनकर खुद के पैरों में खड़ी होती है और अपनी आवश्यकता अनुसार कमाने लगती तो इससे संपूर्ण देश में गरीबी जैसे मसलों को भी दूर किया जा सकता है।

 महिलाओं को सशक्तिकरण करने से संपूर्ण देश का विकास होना संभव है क्योंकि इससे प्रत्येक महिला खुद के लिए आवश्यक वस्तुओं को जुटाने में सफल रहेगी तथा एक शिक्षित परिवार का निमार्ण करेंगी।  यदि प्रत्येक महिला अन्य कमजोर महिला को जागरूक करने में योगदान दें तो इस कारण एक दिन संपूर्ण देश गरीबी को मात दे सकता है और हमारे देश से गरीबी समाप्त हो सकती है।


महिलाओं की प्रतिभाओं को आगे बढ़ाना  देश में कई ऐसी लड़कियां और महिलाएं भी हैं जिनमें विभिन्न प्रकार की प्रतिभाएं हैं परंतु उनके आर्थिक हालातों के चलते वे अपनी प्रतिभाओं को समाज के सामने प्रदर्शित नहीं कर पाती।

महिला सशक्तिकरण के चलते प्रत्येक महिलाओं को अपनी प्रतिभा को दिखाने का मौका मिलेगा तथा महिलाओं के पास यह अवसर भी आएंगा कि वे अपनी प्रतिभा के बल पर खुद का नाम रोशन कर सके।

इस प्रकार हमें अपने देश में कई प्रतिभाशाली महिलाओं को देखने का अवसर फिर से मिल सकता है तथा इनकी प्रतिभाओं के बल पर हमारे देश के विकास में अवश्य कुछ न कुछ सहयोग प्राप्त होगा।

समाज में समानता का भाव पैदा करना – महिला सशक्तिकरण करने का सबसे बड़ा बिंदु यही है कि उसके कारण समाज में महिलाओं को समानता के अवसर प्राप्त हो तथा प्रत्येक व्यक्ति की नजरों में पुरुष और महिला के लिए समानता का भाव रहें। जिससे हमारे समाज में महिला और पुरुषों को प्रत्येक क्षेत्र में समान अवसर दिए जाएंगे।

उम्मीद है की आपको Women Empowerment Slogan In Hindi | महिला सशक्तिकरण स्लोगन से जुड़ी सभी जानकारी मिल चुकी होगी।


यह पोस्ट कैसा लगा है नीचे कॉमेंट करके ज़रूर बताएं, और यदि आपको यह पोस्ट पसंद आया है, तब इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरूर Share करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here