75+ किसान पर नारे – Slogans on Farmers in Hindi


75+ किसान पर नारे – Slogans on Farmers in Hindi! एक किसान जो सदैव खेतों में खून पसीना बहा कर लोगों के लिए अनाज पैदा करता है, फिर भी लोगों को उसकी मेहनत का अंदाजा नहीं लग पाता। पहले के जमींदार किसानों को लूट कर खुद का जीवन बड़ी ही आसानी से आनंददायक यापन करते थे परंतु वर्तमान समय में प्रति किसान शिक्षार्थ होने के कारण अपने हक के लिए आवाज उठा देते हैं परंतु फिर भी उनके साथ अत्यधिक अन्याय किया जाता है।

ज्यादातर किसान बचपन से ही एक कर्जदार परिवार में जन्म देते हैं और उम्र भर कर्जदार बने रहते हैं। हम सभी को अपने जीवन का अस्तित्व बनाए रखने के लिए तथा अपनी भूख को मिटाने के लिए सबसे पहले भोजन की आवश्यकता पढ़ती है तथा उस भोजन को प्राप्त करने के लिए हमें अत्यधिक परिश्रम के फल स्वरुप अनाज उगाना पड़ता है।

मैं किसान हूं मुझे गर्व है किसान होने पे।

हिंदुस्तान की जान किसान की शान।

देश का विकास, किसान के पास।

जिस कार्य को हम कतई भी पसंद नहीं करते, वहीं एक किसान मजबूरन इतना संघर्ष करता है कि जिससे वह अपनी आवश्यकता से बढ़कर अनाज उगाने में अपना पसीना बहाता है। तथा लाखों लोगों के लिए अनाज उठाकर उनकी भूख मिटाने में अपने महत्वपूर्ण जीवन के क्षणों को बर्बाद करता है फिर भी वह लोग जो शहरों में रहते हैं उन्हें किसान के जीवन का महत्व ना के बराबर पता होता है।


75+ किसान पर नारे – Slogans on Farmers in Hindi

60+ Kisan Slogan In Hindi (किसान पर स्लोगन)

हमारा देश एक ऐसा देश है जहां कृषि को ही प्राथमिकता दी जाती है क्योंकि हमारे देश के किसानों के बलबूते ही दुनिया के कई और देश आसानी से अनाज को प्राप्त करने में सक्षम रहते हैं। हमारे देश के लगभग 60% लोग कृषि कार्यों को प्राथमिकता देते हुए संपूर्ण देश के पोषण की व्यवस्था कर पाते हैं।

हमारे देश में कृषि को मुख्य पेशे के तौर पर देखा जाता हैं, सिर्फ किसान ही ऐसा होता है जो तेज धूप तथा कड़क ठंड में अपनी खेती के कार्यों को बिना अपने स्वास्थ्य की प्रवाह बिना करता है। किसान अपनी बलबूते पर सब्जियों को अपने क्षेत्रों में दिन रात मेहनत करके उगाता है तब जाकर समाज में रहने वाले लोग विभिन्न प्रकार की सब्जियों का आनंद ले पाते हैं। Slogans on Farmers in Hindi पर हमने जो  स्लोगन लिखा है, वह स्लोगन है – 

किसान है अन्नदाता ख़ुशियों का है दाता।


आओ अब हम सम्मान करें किसानों को भी सलाम करें।

किस्मत पर नहीं, परिश्रम पर विश्वास रखने वाला किसान ही है जीवन दाता।

हर घर हो जाएगा खाली जब नहीं होगा अन्नदाता।

ईमानदारी और मेहनत की मिसाल हमारे देश का किसान।

देश की जो तकदीर बदल दे ऐसा है मेरे भारत का किसान।

दिल में बसती है जिसके भारत माता वही किसान है हमारे देश का भाग्य विधाता।

सच्चाई और मेहनत का पाठ पढ़ाने वाला जय जय भारतीय किसान।

फसलों को लहरा दे खुशियों को घर घर पहुंचा दे

वहीं है हमारा किसान अन्नदाता।

किसानों से है संपूर्ण प्रकृति का आहार बिन किसान प्रकृति होगी निराश।

जिससे है जीवन का आहार वही किसान क्यों परेशान।

किसानों से है देश का अभिमान।

बंजर को भी जो उपजाऊ बना दे वही है हमारा किसान भ्राता।

किसान है अन्नदाता यही है देश के सच्चे भाग्य विधाता।

देश की हर समस्या का हल चलाकर हल निकालने वाला वही है मेरे देश का किसान।

भाग्य के भरोसे नहीं कर्म के हौसलों पे जो आगे बढ़ता है वही है देश का किसान।

किसानों से ही है देश में जान इनके बिना देश है बेजान।

किसान बिना दुनिया हो जाएगी भूख से परेशान।

मैं किसान हूं मुझे गर्व है किसान होने पे।

हिंदुस्तान की जान किसान की शान।

देश का विकास, किसान के पास।

देश की प्रगति की जो गति है वही है किसान।

परिश्रम करता रोज कड़ी धूप में, इसलिए उसका सम्मान है देखो वह किसान है।

किसान है अन्नदाता, खुशियों का है वह दाता

जो खुद तप कर फसल को पकाता है वही है मेरे देश का किसान।

मेहनत करता दिन रात, किसान है मेरे देश की शान।

किसानों का सम्मान, मतलब देश का सम्मान।

परिश्रम है उसकी पहचान, कहलाता है वह किसान।

किसान की उन्नति, यानी देश की प्रगति।

आओ हम शुरुआत करें, किसानों का आभार करें। 

करता है मेहनत देता है सबको खान-पान,

फिर भी क्यों नहीं होता है उसका आदर-सम्मान।

सोता है वह खुद भूखा पेट, पर भरता है वह सबका पेट, ऐसे हैं किसान अनेक।

किसानों को उनका हक दिलाओ, अपना उनके प्रति कर्तव्य निभाओ।


मर रहा सीमा पर जवान और खेतों पर किसान,

कैसे कह दूं इस दुखी मन से कि मेरा भारत महान

किसान से हम है, हम से किसान नहीं।

देश की पहचान है, हमारे किसान।

भारत को आगे बढ़ाना है, किसानों का सम्मान दिलाना है।

किसानो से है, देश का अभिमान|

परिश्रम और आत्मसम्मान की निशानी, किसान अभीमानी। 

अपनी मेहनत लगा के रूखी सूखी रोटी खाके उगारहे हो तुम अब धान जय भारतीय किसान.

परिश्रम से बेटों को पढ़ाया मेहनत का उनको पाठ सिखाया लगाने के लिए नौकरी उनको किसी ने नहीं दिया ध्यान जय भारतीय किसान.

सभी के लिए तुमने घर बनाए अपने परिवार को झोपडी में सुलाए तुमको मिला नही अच्छा मकान जय भारतीय किसान.

लोकगीत को गा के सबके सोए भाग जगा के

उगा रहे हो तुम अब धान जय भारतीय किसान। 

एक किसान की जीवनशैली

अगर किसान की वास्तविक जीवनशैली को समझा जाए तो वह अत्यधिक कठिनाइयों और मेहनत से भरा हुई है। किसान अपने जीवन में सिर्फ कुछ क्षणों का आराम करने के बाद ही अपना जीवन यापन कर पाता है। क्योंकि किसान अच्छी पैदावार के लिए ज्यादा वक्त सिर्फ अपनी खेती के कार्य में ध्यान देता है ताकि फसलों को नुकसान होने से बचा जा सके। किसान दिन रात एक चौकीदार की भांति अपने क्षेत्रों की देखभाल करता है।

सुबह होते ही किसान अपने खेत की तरफ निकल चलते हैं और देर रात सूर्य ढलने के बाद वापस घर आते हैं। रात में भोजन करने के बाद कुछ घंटों की नींद लेते हैं और फिर अपनी खेती की देखभाल के लिए सुबह निकल पड़ते हैं।  कहे तो किसान के जीवन में कभी भी चैन की नींद होती ही नहीं और ना ही वह अपने भाग्य पर निर्भर रहता है किसान बिना मौसम की प्रवाह किए हमेशा अपनी मेहनत के दम पर विभिन्न कार्यों को करने के किए मजबूर रहता है।

भारत में किसानों की वास्तविक स्थिति

कृषि में प्रधानता प्राप्त करने के साथ-साथ भारत को दुनिया भर में अन्नदाता देश के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि भारत के किसानों के बलबूते ही विश्व के कई देशों को भरपूर अनाज मिल पाता है।

भारत के किसानों के बलबूते ही विश्व के कई देशों में अनाज की पूर्ति होती है, इसलिए भारत के किसानों की मेहनत को विश्व भर में तो हर कोई जानता है परंतु उनके दुख-दर्द से हर कोई दूर ही रहता है और ना ही कभी कोई इनकी पीड़ा को समझने की कोशिश कर पाता।

यदि महसूस किया जाए तो भारत के किसान अपनी आर्थिक स्थिति से अत्यधिक कमजोर होते है, यह अपना जीवन अत्यधिक दुखों के साथ यापन करने के लिए मजबूर हैं। इनका ज्यादातर वक्त सिर्फ अपने खेतों की देखरेख में फसल उगाने में ही बीत जाता है इसी कारण यह अपने जीवन में ज्यादा सुख के क्षणों को महसूस नहीं कर पाते।

यदि एक किसान हमेशा अपने अच्छे पलों को इंजॉय करता तो शायद हमें दो वक्त की रोटी नहीं मिल पाती। अपने दुखों को ये चाहकर भी व्यक्त नहीं कर पाते, यही कारण है कि संपूर्ण दुनिया को खुश करने के लिए कई बार किसानों को आत्महत्या जैसी बड़ी युक्तियों को भी अपनाना पड़ता है।

किसान का हमारे जीवन में महत्व

संपूर्ण विश्व में रह रहे प्रत्येक नागरिक के लिए एक किसान का जीवन अत्यंत महत्वपूर्ण होता है। क्योंकि किसान के बिना किसी भी अनाज की कल्पना नहीं की जा सकती और अनाज के बिना हम अपनी जीवन की कल्पना नहीं कर सकते। क्योंकि बिना अनाज के हमारा जीवन यापन करना मुश्किलों से भरा महसूस होगा।

राष्ट्र के खाद्य प्रदाता

एक किसान ही ऐसा है, जो हमारे लिए सभी प्रकार की फसलों को उगाता है। यही नहीं एक किसान ही अनाज उगाता है,मत्स्य पालन , मुर्गी पालन इत्यादि कार्यों को सिर्फ लोगों की आवश्यकताओं के लिए करता है। तथा वह इन सभी चीजों को हम तक पहुंचाने के लिए भरपूर परिश्रम करते हैं।

राष्ट्र की अर्थव्यवस्था में योगदान

किसान विभिन्न प्रकार के अनाजों को उगाकर तथा फल फूलों को बेचकर उन्हें स्वयं बाजारों में बेचने जाते हैं तथा अत्यधिक अनाज का उत्पादन करके विदेशों में भी उनका निर्यात करते हैं।

जिस कारण विदेशों का पैसा हमारे देश में आता है ।अर्थात हमारे राष्ट्र की अर्थव्यवस्था की मजबूत होती है। कृषि उत्पादों से सिर्फ हमारे राष्ट्र के निर्माण का ही सहयोग नहीं होता बल्कि संपूर्ण मानव विकास में भी इसका महत्वपूर्ण योगदान रहता है।

उम्मीद है की आपको Slogans on Farmers in Hindi | Kisan Par Slogan | किसान पर नारे से जुड़ी सभी जानकारी मिल चुकी होगी।


यह पोस्ट कैसा लगा नीचे कॉमेंट करके ज़रूर बताएं, और यदि आपको यह पोस्ट पसंद आया है, तो इस पोस्ट को  दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरूर Share करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here